Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नोटबंदी का एक साल: भाजपा ने कांग्रेस पर तेज किए हमले, गिनाए नोटबंदी के फायदे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्रिमंडल के सभी बड़े मंत्रियों ने देशभर में नोटबंदी के पक्ष में मोर्चा संभाला।

नोटबंदी का एक साल: भाजपा ने कांग्रेस पर तेज किए हमले, गिनाए नोटबंदी के फायदे

नोटबंदी के साल होने के मौके पर भाजपा ने जहां कांग्रेस समेत तमाम विपक्ष पर अपने हमले तेज कर दिए हैं, वहीं नोटबंदी के फायदे भी गिनाने शुरू कर दिेए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्रिमंडल के सभी बड़े नेताओं ने मोर्चा संभाल लिया है।

कालाधन के खिलाफ निर्णायक लड़ाई थी नोटबंदी : मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने इस मौके पर कहा है कि नोटबंदी कालाधन के खिलाफ लड़ी गई निर्णयक लड़ाई थी और जिसमें विजय भी हासिल हुई। देश के सवा सौ करोड़ लोगों ने इस लड़ाई में पूरा साथ दिया है।

यह भी पढ़ें: रघुराम राजन हो सकते हैं 'आप' के राज्‍यसभा प्रत्याशी, कुमार विश्वास का कटेगा पत्ता!

प्रधानमंत्री ने कहा कि कालाधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार की तरफ से उठाए गए कदमों को समर्थन देने के लिए वह जनता का धन्यवाद करते हैं। इसके लिए पीएम ने कई ट्वीट भी किए हैं। पीएम मोदी ने एक लघु फिल्म शेयर करते हुए नोटबंदी के फायदे भी गिनाए हैं।

डिजिटल लेन-देन, करदाताओं की संख्या में इजाफा: गडकरी

इस बीच, केंद्रीय राजमार्ग एवं सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भी नोटबंदी के लिए भाजपा नेतृत्व वाली सरकार की खूब तारीफ की। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के फैसले के बाद देश में डिजिटल लेन-देन में 58 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। साथ ही करदाताओं की संख्या में भी इजाफा हुआ है।

पढ़ें: मायावती बोलीं, नोटबंदी ने खोले हैं भ्रष्टाचार के नए द्वार, 'भाजपा एंड कंपनी' उठा रही फायदा

गडकरी ने कहा कि 8 नवंबर 2016 को 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने से भ्रष्टाचारियों और काला धन रखने वालों को गहरी चोट लगी है। उन्होंने कहा, 'देश में पैसों का हेर-फेर करने वालों का सिस्टम इतना मजबूत था। खुफिया एजेंसियों को एक ही कंपनी से जुड़े 2,134 खाते मिले।'

यूपीए शासन में हुई लूट को देखें मनमोहन: सीतारमण

उधर, चेन्नई में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने नोटबंदी की आलोचना करने वाले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को आड़े हाथ लिया। सीतारमण ने तंज कसते हुए कहा कि जब उनके राज में 'संगठित लूट' हो रही थी तो वह नजरें छिपाए बैठे थे।

यह भी पढ़ें: यूपी निकाय चुनाव: एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा का नाम बरेली में वोटर लिस्ट से आउट

नोटबंदी को 'संगठित लूट और वैधानिक डाका' बताए जाने को लेकर मनमोहन सिंह की आलोचना करते हुए सीतारमण ने कहा कि इस कदम का मकसद अर्थव्यवस्था को मजबूत करना था। नोटबंदी किसी के निजी फायदे के लिए नहीं थी।

यह भी पढ़ें: मैरी कॉम ने सुनाई 5वें गोल्ड मेडल जीतने की संघर्ष से भरी दास्तान

Next Story
Share it
Top