Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लाभ का पद मामला: दिल्ली हाईकोर्ट में 20 विधायकों के अयोग्य घोषित होने पर सुनवाई, जानें मामला

लाभ पद मामले में राष्ट्रपति द्वारा अयोग्य करार किए जाने वाले आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की अपील पर आज दिल्ली हाईकोर्ट सुनवाई करेगा।

लाभ का पद मामला: दिल्ली हाईकोर्ट में 20 विधायकों के अयोग्य घोषित होने पर सुनवाई, जानें मामला

लाभ पद मामले में अयोग्य करार किए जाने वाले आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की अपील पर आज दिल्ली हाईकोर्ट सुनवाई करेगा। 19 जनवरी को चुनाव आयोग ने इन विधायको को अयोग्य घोषित कर दिया था।

जिसके बाद इस पर राष्ट्रपति ने भी अपनी मोहर लगा कर चुनाव आयोग की बात को सही करार दिया था। राष्ट्रपति के मोहर लगाने के बाद 20 जनवरी को कानून मंत्रालय ने विधायकों के अयोग्य होने का नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया था।

बीते सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा था कि जब तक इस मामले में विस्तार से सुनवाई नहीं होगी, तब तक चुनाव आयोग चुनाव का ऐलान ना करें।

इसे भी पढ़ें : बजट 2018: राष्ट्रपति ने मोदी सरकार के पिछले 4 साल का रिपोर्ट कार्ड पेश किया, यहां पढ़ें पूरा भाषण

विधायकों ने कुछ सीटोx पर जताई थी उपचुनाव की आशंका

बीते सप्ताह बुधवार को इस मामले की सुनवाई की जा रही थी, तब उस दौरान विधायकों की ओर से आप विधायकों पर लगे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि जो भी आरोप लगाए गए हैं, वो बेबुनियाद हैं।
विधायकों ने दलील दी थी कि चुनाव आयोग ने उनकी बात नहीं सुनी और नए चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने खुद को इस सुनवाई से अलग कर लिया है।

विधायकों ने ऑफिस ऑफ प्रॉफिट को कहा बेबुनियाद

विधायकों ने कहा कि हमारे खिलाफ ऑफिस ऑफ प्रॉफिट का मामला नहीं बनता। तब दिल्ली हाईकोर्ट ने चुनाव आयोग से उपचुनाव की घोषणा करने को मना दिया है। राष्ट्रपति के आदेश के बाद सदस्यता गंवाने वाले 20 विधायकों में से कुल 8 पूर्व विधायकों की ये याचिका लगाई है।
बता दें कि इन विधायको को जो राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द के द्वारा अयोग्य ठराए जाने के लिए विधायकों को नोटिफिकेशन मिली थी। उस को रद्द करने के लिए दिल्ली हाई कोर्ट का रुख किया है, जिसके बाद दिल्ली सरकार के ये विधायक पूर्व विधायक बन गए हैं।

राष्ट्रपति ने चुनाव आयोग के फैसले पर लगाई थी मोहर

गौरतलब है कि बीती 21 जनवरी को चुनाव आयोग द्वारा भेजी गई जानकारी और सिफारिश के चलते राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को लाभ का पद रखने के मामले में अयोग्य ठहरा दिया था। जिसके बाद आप के सभी विधायकों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।

Share it
Top