logo
Breaking

नेशनल हेराल्ड / दिल्ली HC का आदेश- 2 हफ्ते में खाली करना होगा हेराल्ड हाउस

दिल्ली हाईकोर्ट ने हेराल्ड हाउस केस में कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका दिया है। हाईकोर्ट ने दो हफ्ते में हेराल्ड हाउस खाली करने का आदेश दिया है।

नेशनल हेराल्ड / दिल्ली HC का आदेश- 2 हफ्ते में खाली करना होगा हेराल्ड हाउस

दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने नेशनल हेराल्ड हाउस केस (National Herald Case) में कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका दिया है। हाईकोर्ट ने दो हफ्ते में हेराल्ड हाउस (Heralad House) खाली करने का आदेश दिया है। साथ ही चेतावनी भी दी है कि ऐसा नहीं होने पर कार्रवाई की जाएगी। केंद्रीय भूमि एवं विकास प्राधिकरण (Central land and development authority) को 30 अक्टूबर को एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (Associated Journals Limited) को इमारत (Building) खाली करने का आदेश दिया था।

अखबार को प्रकाशित करने वाली कंपनी एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड ने इस आदेश हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। दिल्ली हाईकोर्ट ने आज AJL की याचिका को खारिज कर दिया है और दो हफ्ते में हेराल्ड हाउस खाली करने का आदेश दिया है।

एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड ने याचिका में आरोप लगाया गया था कि भूमि और विकास कार्यालय का आदेश गैरकानूनी, असंवैधानिक, मनमाना, बेईमानी भरा है। यह बिना किसी अधिकार और अधिकार क्षेत्र के जारी किया गया था।

मामलू हो कि इससे पहले केंद्र सरकार ने अपने निर्देश में भवन की लीज खत्म करते हुए उसे 15 नवंबर तक खाली करने को कहा था।

क्‍या है नेशनल हेराल्‍ड

देश की आजदी से पहले जिन अखबरों की बुनियाद पड़ी थी नेशनल हेराल्ड भी उन अखबारों की श्रेणी में है। नेशनल हेराल्‍ड दिल्ली और लखनऊ से प्रकाशित होना वाला अंग्रेजी अखबार था।

नेशनल हेराल्‍ड अखबार की नींव साल 1938 में देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने रखी थी। इंदिरा गांधी के समय जब कांग्रेस का विभाजन हुआ था उस दौरान

इंदिरा गांधी के समय जब कांग्रेस में विभाजन हुआ तो इसका स्‍वामित्‍व (मालिकपन) इंदिरा कांग्रेस को मिला। इस अखबार को कांग्रेस का मुखपत्र माना जाता है।

साल 2008 में आर्थिक हालात के चलते नेशनल हेराल्‍ड अखबार का प्रकाशन बंद हो गया था। इस समय नेशनल हेराल्‍ड अखबार भारती राष्ट्रीय कांग्रेस (Congress) की नीतियों के प्रचार प्रसार का मुख्‍य स्रोत था।

Loading...
Share it
Top