Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रूस से 83 तेजस, 15 हेलीकॉप्‍टर और 464 टैंक खरीदेगा भारत

रक्षा मंत्रालय ने 82 करोड़ के रक्षा सौदा को मंजूरी दे दी है।

रूस से 83 तेजस, 15 हेलीकॉप्‍टर और 464 टैंक खरीदेगा भारत
नई दिल्ली. रक्षा मंत्रालय द्वारा 82,000 करोड़ रुपए के रक्षा सौदा को मंजूरी दे दी गई है। इसमें 83 तेजस लड़ाकू विमान, 15 हल्के लड़ाकू हेलिकॉप्टर और 464 T-90 टैंक शामिल हैं।
द इडिंयन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक रक्षा मंत्रालय ने 82 करोड़ के इस प्रोजेक्ट को मजूरी दे दी है। बता दें तेजस बनाने वाली Hindustan Aeronautics Limited (HAL) को पहले ही 40 एयरक्राफ्ट बनाने का ऑर्डर दिया जा चुका है। इस साल के अंत तक इंडियन एयरफोर्स को उनकी डिलीवरी की जाने लगेगी। तेजस डील में सरकार ने कुल 50,025 करोड़ रुपए खर्च करेगी। जो हेलिकॉप्टर खरीदे जाएंगे उनकी कीमत लगभग 2,911 करोड़ रुपए है। वह आर्मी और एयरफोर्स दोनों के काम आएंगे। वहीं टैंक्स के लिए सरकार को 13,448 करोड़ रुपए चुकाने होंगे।
इसके अलावा रक्षा खरीद परिषद ने आर्मी के लिए 598 ड्रोन खरीदने की बात भी कही है। जुलाई में एयरफोर्स ने तेजस के एक स्कवाड्रन की बढ़ोतरी की थी। एक स्कवाड्रन में 14 से 16 एयरक्राफ्ट होते हैं। कई खामियों के बावजूद एयरफोर्स ने 2015 में तेजस के और एयरक्राफ्ट्स को शामिल करने का फैसला किया था। बता दें कि भारत रूस से 83 तेजस लड़ाकू विमान, 15 हल्के लड़ाकू हेलिकॉप्टर और 464 T-90 टैंक खरीदेगा।
तेजस डील को अब तक प्रारंभिक परिचालन मंजूरी (आईओसी) मिली है लेकिन उसे अंतिम परिचालन मंजूरी (एफओसी) का इंतजार है। 80 और तेजस आने से भारत के पास इनकी संख्या 120 हो जाएगी। हालांकि, इनकी डिलीवरी के बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता। तेजस में मिली कमियों में सबसे बड़ी कमी यह थी कि उनमें हवा में इंधन भरने की सुविधा नहीं दी गई थी।
रक्षा मंत्रालय और HAL के बीच इस बात को लेकर बात चल रही है कि कैसे प्रोडक्शन की क्षमता को बढ़ाया जाए। शुरुआत में एक साल के अंदर 8 एयरक्राफ्ट देने की बात कही गई है जिसे बाद में 16 कर दिया जाएगा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top