Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

खोज अभियान जारी रखने के लिये तमिलनाडु के सीएम ने नहीं किया कोई फोन: रक्षा मंत्री

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने ओखी तूफान से संबंधित एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हमने 27 दिसंबर के बाद खोज अभियान संपन्न कर दिया था।

खोज अभियान जारी रखने के लिये तमिलनाडु के सीएम ने नहीं किया कोई फोन: रक्षा मंत्री

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने ओखी तूफान से संबंधित एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हमने 27 दिसंबर के बाद खोज अभियान संपन्न कर दिया था। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री की तरफ से मुझे कोई फोन नहीं आया कि इस अभियान को फिर से शुरू किया जाए।

आपको बता दें कि पिछले साल दिसंबर में केंद्र सरकार के द्वारा जारी किये गये आंकड़ों के अनुसार चक्रवात ओखी की वजह से कुल 661 मछुआरे लापता थे।
तमिलनाडु से 400 केरल से 261 मछुआरे लापता थे। नौसेना द्वारा किए गए राहत अभियान में भारतीय तटरक्षकों वायुसेना ने 821 मछुआरों को बचाया था।
गौरतलब है कि पिछले साल 29 नवंबर को दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर दबाव के क्षेत्र के तौर पर बने ओखी तूफान ने 30 नवंबर को तमिलनाडु में कन्याकुमारी तट के पास चक्रवात के तौर पर तीव्रता हासिल कर ली थी।
और छह दिसंबर को कम दबाव के क्षेत्र में कमजोर पडऩे के बाद यह गुजरात तट तक जा पहुंचा था। मौसम विभाग के क्षेत्रीय केंद्र के निदेशक एस बालाचंद्रन ने बताया था कि तीन दशकों से ज्यादा समय में यह पहला गंभीर चक्रवाती तूफान है।
जिसने 2,000 किलोमीटर से ज्यादा का सफर तय किया है। यह बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना, अरब सागर में उभरा और गुजरात तट तक का सफर तय किया।
Next Story
Share it
Top