Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वरुण गांधी ने नहीं की कोई रक्षा जानकारी लीकः दलाल अभिषेक

दलाल अभिषेक का कहना है कि वरुण को किसी हनीट्रैप में नहीं फंसाया गया

वरुण गांधी ने नहीं की कोई रक्षा जानकारी लीकः दलाल अभिषेक
X
नई दिल्ली. विवादित आर्म्स डीलर अभिषेक वर्मा ने गुरुवार रात को बीजेपी सांसद वरुण गांधी के खिलाफ रक्षा जानकारियां लीक करने के आरोपों को खारिज कर दिया है। अभिषेक वर्मा ने आरोपों से संबंधित ईमेल्स एवं तस्वीरों को मनगढ़ंत करार दिया जिनमें कहा गया है कि बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने उन्हें रक्षा जानकारियां लीक कीं। इससे पहले बीजेपी सांसद वरुण गांधी खुद भी इन आरोपों को खारिज कर चुके हैं।

स्कॉर्पिन पनडुब्बी में हुए भ्रष्टाचार पर केन्द्र सरकार की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए गुरुवार को स्वराज इंडिया पार्टी के योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण ने संवाददाता सम्मेलन कर दलाल अभिषेक वर्मा के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने की मांग की थी। भूषण ने आरोप लगाया था कि आर्म्स डीलर अभिषेक वर्मा के खिलाफ जांच में विसलब्लोअर की भूमिका निभाने वाले अमेरिकी शख्स सी एडमंड्स एलन ने 25 अगस्त को पीएमओ को लिखे एक पत्र में दावा किया था कि नेवल डिफेंस लीक के लिए वर्मा ने विदेशी वेश्याओं का प्रयोग किया था। लेटर में दलाल अभिषेक पर वरुण गांधी को कथित तस्वीरों और ईमेल्स के जरिए ब्लैकमेलिंग करने का भी आरोप लगा है।

वर्मा ने गुरुवार रात एक बयान में कहा, 'मैं उन सभी आरोपों से इनकार करता हूं जो कथित लेटर में लगाए गए हैं। मैं योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण की ओर से लगाए गए आरोपों से भी इनकार करता हूं।'

उन्होंने कहा, 'न्यूयॉर्क आधारित वकील एलन फर्जीवाड़ा करने वाला व्यक्ति है। वह अतीत में भी दूसरे लोगों की तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ कर चुका है। मैंने 6 फरवरी, 2012 को पटियाला हाउस अदालत में एलन के खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराया था। इस मामले की सुनवाई चल रही है और मामला विचाराधीन है।'

वर्मा ने कहा, कथित ईमेल्स और तस्वीरें छेड़छाड़ कर बनाई गई हैं क्योंकि मैंने न तो कभी वरुण गांधी की तस्वीरें खींची हैं और न ही कहीं पर उनका नाम लिया। ये सभी आरोप एलन ने मुझे और लेटर में जिक्र किए गए लोगों को बदनाम करने के लिए लगाए हैं।

उन्होंने एलन की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब 2012 में सीबीआइ और ईडी की जॉइंट टीम ने न्यूयॉर्क में उनसे मिली थी तो उन्होंने तब यह खुलासा क्यों नहीं किया? एलन ने सीबीआइ या ईडी को इन तस्वीरों और वरुण गांधी को ब्लैकमेलिंग करने के बारे में तब क्यों नहीं बताया? 4 साल बाद उन्हें होश आया है जब पिछले महीने मुझे कोर्ट से जमानत मिल गई है।

स्कॉर्पियन डील के बारे में वर्मा ने कहा, दिल्ली हाई कोर्ट ने 13 जनवरी 2016 को प्रशांत भूषण की स्कॉर्पियन डील मामले में दाखिल की गई जनहित याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें मुझे भी एक पार्टी बनाया गया था। भूषण ने अपनी जनहित याचिका के खारिज होने की बात अपने ट्वीट और प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्यों नहीं बताई? भूषण कोर्ट की अवमानना कर रहे हैं।

आर्म्स डीलर अभिषेक वर्मा ने कहा कि वह एडमंड्स एलन, प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव के खिलाफ जल्द ही आपराधिक मानहानि का मुकदमा दर्ज कराएंगे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top