Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दार्जिलिंग के पर्यटन की जान टॉय ट्रेन फिर पटरी पर लौटी, जोश में टूरिस्ट

पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग की हिमालयन रेलवे यानि टॉय ट्रेन को गोरखालैंड आंदोलन की वजह से बंद करना पड़ा था।

दार्जिलिंग के पर्यटन की जान टॉय ट्रेन फिर पटरी पर लौटी, जोश में टूरिस्ट

पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग की हिमालयन रेलवे यानि टॉय ट्रेन फिर से पटरी पर लौट आई है। इसे गोरखालैंड आंदोलन की वजह से बंद करना पड़ा था। इससे राज्य के पर्यटन उद्योग को भारी नुकसान उठाना पड़ा था। पर्यटक पिछले 124 दिनों से मायूस ही लौट रहे थे।

यह भी पढ़ें: सीएम योगी आदित्यनाथ आज देंगे पूर्वांचल के लोगों को कई बड़ी सौगातें

12 जून को बंद की गई टॉय ट्रेन रविवार सुबह सिलीगुड़ी जंक्शन से पूरे उत्साह के साथ रवाना की गई और यह सिलीगुड़ी जंक्शन तक गई। इस दौरान टूरिस्ट भी बेहद उत्साहित नजर आए।

दार्जिलिंग हिमालय रेलवे के डायरेक्टर एमके नार्जारी का कहना है कि पहले चरण में इसे सुकना तक ही चलाया जाएगा। 25 अक्टूबर के बाद टॉय ट्रेन के परिचालन को विस्तार दिया जाएगा। इसका रूट रंगटंग तक बढ़ा दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: सिर से पांव तक ढकी रहने वाली मलाला ने पहनी टाइट जींस, फोटो वायरल

दार्जिलिंग हिमालय रेलवे के मुताबिक टॉय ट्रेन के बंद होने से करीब 5 करोड़ रुपये का आर्थिक क्षति हुई है। अभी भी रेलव ट्रैक और डीएचआर कार्यालय में हुए नुकसान की मरम्मत होनी बाकी है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल चुनाव 2017: भाजपा से निपटने को राहुल गांधी से मिलने पहुंचे वीरभद्र

सिलीगुड़ी और दार्जिलिंग के बीच के ट्रैक का बारीकी से निरीक्षण किया जा रहा है। उम्मीद की जा रही है कि 25 अक्टूबर के बाद टॉय ट्रेन नियमित रूप से चलनी शुरू हो जाएगी। दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे को यूनेस्को दिसंबर 1999 में विश्व धरोहर का दर्जा दे चुका है।

Loading...
Share it
Top