Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

क्यूबा के क्रांतिकारी नेता और पूर्व राष्ट्रपति ''फिदेल कास्त्रो'' का निधन

2008 में फिदेल ने स्वेच्छा से राष्ट्रपति पद छोड़ दिया था।

क्यूबा के क्रांतिकारी नेता और पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो का निधन
X
हवाना. क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री फिदेल कास्त्रो का शनिवार को निधन हो गया। 90 वर्षीय कास्त्रो लंबे समय से बीमार चल रहे थे। कास्त्रो के भाई और राष्ट्रपति राउल कास्त्रो ने उनकी मृत्यु की घोषणा की है।
साल 2008 में फिदेल कास्त्रो ने स्वेच्छा से राष्ट्रपति पद छोड़ दिया था। लेकिन वह क्यूबा कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव बने हुए थे। कास्त्रो 1959 से दिसंबर 1976 तक क्यूबा के प्रधानमंत्री और फिर क्यूबा की राज्य परिषद के अध्यक्ष (राष्ट्रपति) रहे थे। फिदेल एक क्रांतिकारी नेता थे।
फिदेल एक संपन्न और अमीर परिवार में पैदा हुए थे, उन्होनें कानून की डिग्री प्राप्त की थी। हवाना विश्वविद्यालय में अध्ययन करते हुए उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की, और क्यूबा की राजनीति में एक मान्यता प्राप्त व्यक्ति बन गए। उनका राजनीतिक जीवन फुल्गेंकियो बतिस्ता शासन और संयुक्त राज्य अमेरिका का क्यूबा के राष्ट्रहित में राजनीतिक और कारपोरेट कंपनियों के प्रभाव का आलोचक रहा है।
उन्हें सीमित समर्थक मिले और उन्होंने अधिकारियों का ध्यान आकर्षित किया था। उन्होंने मोंकाडा बैरकों पर 1953 में असफल हमले का नेतृत्व किया, जिसके बाद वे गिरफ्तार हो गए, उन पर मुकदमा चला, वे जेल में रहे और बाद में रिहा कर दिए गए।कास्त्रो क्यूबा की क्रांति के जरिए अमेरिका समर्थित फुल्गेंकियो बतिस्ता की तानाशाही को उखाड़ फेंक सत्ता में आए और उसके बाद क्यूबा के प्रधानमंत्री बने। 1965 में वे क्यूबा की कम्युनिस्ट पार्टी के प्रथम सचिव बन गए और क्यूबा को एक-दलीय समाजवादी गणतंत्र बनाने में नेतृत्व दिया।
1976 में वे राज्य परिषद और मंत्रिपरिषद के अध्यक्ष (राष्ट्रपति) बन गए। उन्होंने क्यूबा के सशस्त्र बलों के कमांडर इन चीफ का पद भी अपने पास ही रखा। कास्त्रो द्वारा तानाशाही की आलोचना के बावजूद उन्हें एक तानाशाह के रूप में ही चित्रित किया गया। स्वास्थ्य ठीक ना होने की वजह से कास्त्रो ने अपने भाई और उनके पहले उपराष्ट्रपति राउल कास्त्रो को 31 जुलाई 2006 को अपनी जिम्मेदारियां दे दी थीं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story