Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बड़ा खुलासा: भारतीय सेना के पास चीन से लड़ने के लिए नहीं है गोला-बारूद

कैग ने कहा कि 1999 में आर्मी ने तय किया कि कम से कम 20 दिन की अवधि के लिए रिजर्व होना ही चाहिए।

बड़ा खुलासा: भारतीय सेना के पास चीन से लड़ने के लिए नहीं है गोला-बारूद
X

चीन और पाकिस्तान से चल रहे टकराव के बीच भारत के लिए एक चिंता की बात सामने आई है। कंट्रोलर एंड ऑडिटर जनरल (कैग) ने शुक्रवार को संसद में पेश रक्षा विभाग को लेकर अपनी रिपोर्ट पेश की है।

इसे भी पढ़ें- स्वदेशी बोफोर्स तोपों के लिए चीन से आया नकली सामना: CBI

कैग ने कहा कि है कि टकराव की स्थिति में सेना के पास 10 दिन का गोला-बारूद भी नहीं है। गौरतलब है कि 1999 में आर्मी नै तय किया था कि कम से कम 20 दिन की अवधि का गोला-बारूद रिजर्व होना चाहिए।

कैग ने आगे कहा कि कि ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड के प्रदर्शन में 2013 से कोई सुधार नहीं हुआ है। साथ ही रिपोर्ट में तोपों के गोले और आर्टिलरी की कमी की तरफ इशारा किया है।

इसे भी पढ़ें- नफरत और अव्यवस्था फैला रहे हैं राहुल गांधी: BJP

कैग की रिपोर्ट में कहा गया है कि हमने गोला-बारूद की उपलब्धता में कोई महत्वपूर्ण सुधार नहीं देखा है।

बता दें कि 55 फीसदी गोला-बारूद की उपलब्धता एमएआरएल से कम थी, यानी न्यूनतम अपरिहार्य आवश्यकता परिचालन तैयार करने के लिए रखी गई थी। लेकिन अब सवाल उठता है कि आखिर भारत चीन बोर्ड पर इस समय तनाव चल रहा है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story