Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लेफ्ट में घमासान, येचुरी और करात के बीच खिंची तलवार

पार्टी में अंदरूनी झगड़े का निपटारा जल्द नहीं किया गया तो पार्टी का नामलेवा भी नहीं बचेगा।

लेफ्ट में घमासान, येचुरी और करात के बीच खिंची तलवार

देश की राजनीति में सबसे अनुशासित पार्टी माने जाने वाली सीपीएम में इन दिनों जमकर तलवारबाजी चल रही है।

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी को तीसरी बार राज्यसभा नहीं मिलने के बाद से शुरू हुई सियासत इतनी तेजी से घूमी कि येचुरी के खासमखास माने जाने वाले राज्यसभा सांसद रिताब्रता बंदोपाध्याय को पार्टी की प्राथमिकता सदस्यता से निलंबित कर दिया गया।

उन पर आरोप है कि उन्होंने पार्टी के भीतर के मनमुटाव को सार्वजनिक किया। उन पर शाही ठाटबाट से रहने और कुछ अन्य आरोपों की जांच भी पार्टी स्तर पर चल रही थी।

मगर मोटी बात ये है कि पार्टी के दो मजबूत स्तंभ सीताराम येचुरी और प्रकाश करात के बीच जमकर ठनी हुई है। करात केरल गुट को सीपीएम केरल गुट का समर्थन प्राप्त है जब कि येचुरी का आधिपत्य पश्चिम बंगाल माना जाता रहा है।

यह बात अलग है कि रिताब्रता को पार्टी निकाला की घोषणा दिल्ली में सीपीएम पश्चिम बंगाल के सचिव सूर्यकांत मिश्रा ने किया।

इसे भी पढ़ें - राष्ट्रपति चुनाव: भाजपा की कमेटी करेगी सोनिया और येचुरी से मुलाकात

पार्टी सूत्रों ने माना कि राज्यसभा में पहले वृंदा करात को दूसरी बार नॉमिनेट होने से येचुरी ने रोका तो करात गुट ने तमाम विपक्षी दलों की ओर से मांग आने के बाद भी येचुरी को लगातार तीसरी बार उच्चसदन भेजे जाने में अपनी रजामंदी नहीं दी।

उसके बाद दोनों के बीच वर्षों पुराना चल रहा शीतयुद्ध सामने आने लगा। रही सही कसर पश्चिम बंगाल में येचुरी ने कांग्रेस से गठबंधन कर पूरी कर ली। वहां के सूबाई सियासत में कांग्रेस सीपीएम गठबंधन में कांग्रेस मजबूती से निकल कर आई है।

प्रकाश करात कांग्रेस के साथ गठबंधन के पक्ष में नहीं थे। ऐसी ही बातों ने धीरे-धीरे दोनों वरिष्ठ नेताओं के बीच विकराल रूप ले लिया है। अलबत्ता दोनों वरिष्ठ नेताओं ने अबतक खामोशी ओढ़ी हुई है।

सूत्रों ने बताया कि वृंदा करात फिर से केरल से राज्यसभा सदस्य के तौर पर चुनकर आ सकती है। सूत्रों ने ये भी माना कि वाम गठबंधन का नेतृत्व करने वाली सीपीएम पार्टी में अंदरूनी झगड़े का निपटारा जल्द नहीं किया गया तो आगामी चुनाव में पार्टी का नामलेवा भी नहीं बचेगा।

Next Story
Share it
Top