Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

''नया पाकिस्तान'' पर इमरान को मिला चीन का साथ, CPEC से खुलेंगे तरक्की के रास्ते

चीन ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की ''नया पाकिस्तान'' पहल का समर्थन किया है। चीन ने कहा कि अरबों डालर की जिस सीपीईसी परियोजनाओं पर काम किया जा रहा है, वो पाकिस्तान के आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी।

चीन ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की 'नया पाकिस्तान' पहल का समर्थन किया है। चीन ने कहा कि अरबों डालर की चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) के तहत जिन परियोजनाओं पर काम किया जा रहा है, वे पाकिस्तान के आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी।

चीन के अंतरराष्ट्रीय विकास मंत्री सांग ताओ ने प्रधानमंत्री इमरान खान से सोमवार को मुलाकात की और सभी क्षेत्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय मंचों पर समर्थन का भरोसा दिया।

इसे भी पढ़ें- गोवा में बड़ा राजनीतिक उथल-पुथल, कांग्रेस के दो विधायक भाजपा में शामिल

उन्होंने गरीबी उन्मूलन, भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई और कृषि विकास के एजेंडे में चीन के समर्थन की भी बात दोहरायी। कुल 60 अरब डालर की सीपीईसी क्षेत्र तथा सड़क पहल (बीआरआई) का महत्वपूर्ण हिस्सा है।

बीआरआई चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की महत्वकांक्षी परियोजना है जिसका मकसद चीन वित्त पोषित ढांचागत परियोजनाओं के जरिये दुनिया भर में बीजिंग के प्रभाव को बढ़ाना है।

भारत सीपीईसी परियोजना के खिलाफ है और इसको लेकर चीन के समक्ष विरोध जताया है। इसका कारण इसे पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के रास्ते ले जाया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें- 2018 के पहले छह महीनों में भारत में 22 अरब डॉलर का FDI आया: UN रिपोर्ट

बयान के अनुसार सांग ताओ ने सीपीईसी को प्रमुख परियोजना बताया जो नये पाकिस्तान के निर्माण की दिशा में उल्लेखनीय योगदान करेगा।

विज्ञप्ति में खान के हवाले से कहा गया है कि पाकिस्तान की जनता चीन के साथ मित्रता को बड़ा महत्व देती है। खान तीन नवंबर को चीन की यात्रा पर जा रहे हैं।

अपनी यात्रा के दौरान वह राष्ट्रपति शी और अन्य शीर्ष नेताओं से मिलेंगे तथा रक्षा संबंधों को मजबूत बनाने के साथ-साथ विवादों में फंसी सीपीईसी परियोजनाओं पर बातचीत करेंगे।

Next Story
Top