Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पहले भाई-बहन को हो गया एक-दूसरे से प्यार, फिर मंदिर में किया ये अक्ष्मय अपराध

प्यार में असफल होना आम बात है। कहा जाता है प्रेम की असफलता ही ऐसी असफलता है जहां बेइज्जती नहीं महसूस होती। पर कुछ लोग इसे मिथक मानकर सिरे से खारिज कर देते हैं और साथ जीने मरने की कसम खाकर जिंदगी के बजाय मौत को चुन लेते हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है।

पहले भाई-बहन को हो गया एक-दूसरे से प्यार, फिर मंदिर में किया ये अक्ष्मय अपराध
प्यार में असफल होना आम बात है। कहा जाता है प्रेम की असफलता ही ऐसी असफलता है जहां बेइज्जती नहीं महसूस होती। पर कुछ लोग इसे मिथक मानकर सिरे से खारिज कर देते हैं और साथ जीने मरने की कसम खाकर जिंदगी के बजाय मौत को चुन लेते हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है।
हरियाणा के भिवानी शहर में चचेरे भाई-बहन ने फांसी लगाकर जान दे दी। फांसी लगाने के पीछे प्रेम-प्रसंग का मामला बताया जा रहा है। बीते 1 अप्रैल से दोनो घर से लापता हो गए। परिजनों ने नजदीकी थाने में जाकर एफआईआर भी दर्ज करवाई।
उसके अगले ही दिन गांव के बाहर बने मंदिर में दोनो के फांसी लगाने की जानकारी मिलती है। मौके पर पुलिस पहुंची और लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर खुदखुशी के कारणों का पता लगाने में जुट गई। बवानीखेड़ा के डीएसपी व एसएचओ भी मौके पर पहुंचे।
युवक हरियाणा दिव्यांग क्रिकेट टीम का सदस्य था वहीं लड़की ने इसी साल 12वीं की परीक्षा दी थी। मृतक युवक का नाम कुलवंत और लड़की का नाम अनीता है। बताया जा रहा कि दोनों एक ही मोहल्ले के थे और रिश्ते में चचेरे भाई-बहन लगते थे। उनकी मौत से घर में सन्नाटा पसरा हुआ है, कोई कुछ भी बोलने को लेकर तैयार नहीं है।
Next Story
Share it
Top