Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

''भारत 2022 तक गरीबी, जातिवाद और सांप्रदायिकता से मुक्त हो जाएगा''

भारत ''ईज ऑफ डूइंग बिजनस'' के मामले में 50 शीर्ष देशों में शामिल हो सकता है।

भारत सरकार के थिंक टैंक नीति आयोग 2022 तक एक ऐसे भारत की परिकल्पना की है, जो जातिवाद और सांप्रदायिकतावाद से पूरी तरह मुक्त होगा।

इसके लिए नीति आयोग ने शनिवार को दिल्ली में न्यू इंडिया ऐट 2022 नाम से एक विजन डॉक्यूमेंट पेश किया।

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने इस मौके पर कहा कि साल 2022 तक भारत गंदगी, भ्रष्टाचार, गरीबी, सांप्रदायिकतावाद, जातिवाद और आतंकवाद से पूरी तरह से मुक्त हो जाएगा।

राजीव कुमार ने आगे कहा कि अगर हम अपनी आर्थिक विकास दर 8 फीसदी के करीब बनाए रखने में कामयाब रहें, तो 2047 तक भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगी।

नीति आयोग के विजन डॉक्यूमेंट की विशेष बातें -

* साल 2022 तक भारत कुपोषण मुक्त हो जाएगा

* साल 2019 तक प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से देश का हर गांव जुड़ जाएगा

* साल 2022 तक भारत के 20 से ज्यादा उच्च शिक्षा संस्थान विश्व स्तरीय हो जाएंगे

* साल 2022 तक प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के तहत आने वाले गांव 'मॉडल विलेज' बन जाएंगे।

* भारत कारोबार सुगमता के मामले में 50 शीर्ष देशों में शामिल हो सकता है।

Next Story
Share it
Top