Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

फर्जी कंपनियों पर सरकार ने कसा शिकंजा, 2.24 लाख शैल कंपनियां बंद

ये कंपनियां लंबे समय से परिचालन में नहीं थीं। इसके अलावा इन कंपनियों से जुडे तीन लाख से अधिक निदेशकों को अयोग्य घोषित कर दिया गया है।

फर्जी कंपनियों पर सरकार ने कसा शिकंजा, 2.24 लाख शैल कंपनियां बंद

केंद्र सरकार ने कंपनियों को नियम से काम करने का संदेश देते हुए मंगलवार को कहा कि नियमों का अनुपालन न करना उन्हें बड़ा महंगा पड़ सकता है। कंपनियों का गलत मकसद से इस्तेमाल रोकने के खतरनाक काम पर अंकुश लगाने के लिए कोई कमी नहीं बरती जाएगी।

धन के गैरकानूनी प्रवाह को रोकने के लिए कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय ने पहले ही 2.24 लाख कंपनियों को बंद कर दिया है। ये कंपनियां लंबे समय से परिचालन में नहीं थीं। इसके अलावा इन कंपनियों से जुडे तीन लाख से अधिक निदेशकों को अयोग्य घोषित कर दिया गया है।

इसे भी पढ़ें- शीतकालीन सत्र में गतिरोध खत्म हुआ तो आज पेश होंगे ये 6 महत्वपूर्व विधेयक

यह बात कॉरपोरेट मामलों के सचिव इंजेती श्रीनिवास ने एक इंटरव्यू के दौरान कहीं। श्रीनिवास ने कहा कि कानूनी तरीके से काम कर रही कंपनियों के लिए चीजों को सरल किया गया है।

वहीं गैरकानूनी कारोबारी गतिविधियों पर अंकुश के लिए प्रावधान कड़े किए गए हैं। श्रीनिवास ने इंटरव्यू में कहा, अनुपालन करना बहुत आसान, अनुपालन नहीं करना बहुत महंगा होना चाहिए। गैरकानूनी कारोबार के लिए कड़े अंकुश होने चाहिए।

जो लोग कंपनियों का इस्तेमाल गलत कार्य के लिए करेंगे उनके लिए यह बहुत खतरनाक कदम होगा। शेल कंपनियों के खिलाफ वर्तमान में चल रही कार्रवाई पर उन्होंने कहा कि जांच का काम तेजी से किया जा रहा है।

Next Story
Share it
Top