logo
Breaking

भाजपा के बाद कांग्रेस भी आई तीन तलाक के समर्थन में, जानिए ओवैसी क्यों कर रहे हैं विरोध

रविशंकर प्रसाद ने लोकसभा में बिल पेश करते हुए कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है। सरकार महिलाओं को उनका हक दिलाने के लिए इस बिल को लाया गया है।

भाजपा के बाद कांग्रेस भी आई तीन तलाक के समर्थन में, जानिए ओवैसी क्यों कर रहे हैं विरोध

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज संसद में तीन तलाक पर बिल पेश कर दिया है। रविशंकर प्रसाद ने लोकसभा में बिल पेश करते हुए कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है। सरकार महिलाओं को उनका हक दिलाने के लिए इस बिल को लाया गया है।

कांग्रेस ने इस तीन तलाक पर इस बिल का समर्थन का ऐलान किया है। कांग्रेस बिल पर कोई संशोधन नहीं लाएगी। कांग्रेस की ओर से सरकार को सिर्फ सुझाव दिए जाएंगे, और सरकार का इस मुद्दे पर समर्थन किया जाएगा।

कांग्रेस से लोकसभा सांसद मल्लिका अर्जुन खड़गे ने ट्रिपल तलाक बिल पर कहा कि हम सभी इस विधेयक का समर्थन कर रहे हैं, लेकिन कुछ ऐसी समस्याएं हैं जो स्थायी समिति में सुधारा जा सकता हैं। हम एक साथ बैठ सकते हैं और समयबद्ध तरीके से सुलझा सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः तीन तलाक पर मौलवियों ने निकाला जुगाड़ का नया रास्ता, अब कानून से ऐसे बचेंगे

दूसरी राष्ट्रीय जनता दल, बीजू जनता दल और औवेसी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहदुल मुस्लमीन सहित कई विपक्षी पार्टियों ने इस बिल का विरोध किया। विपक्षी पार्टियों ने बिल में सजा के प्रावधान को गलत बताया है।

ओवैसी ने किया विरोध

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस बिल का विरोध किया। उन्होंने कहा कि ये बिल संविधान के मुताबिक नहीं है। ओवैसी ने कहा कि तलाक ए बिद्दत गैरकानूनी है, घरेलू हिंसा को लेकर भी कानून पहले से मौजूद है फिर इसी तरह के एक और कानून की जरूरत क्या है?

Loading...
Share it
Top