Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

महिला आरक्षण बिल को लेकर काग्रेस अध्यक्ष ने पंजाब के मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अब देश की आधी आबादी की सत्ता में हिस्सेदारी की लड़ाई तेज करने का मन बनाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महिलाओं के बीच बहुचर्चित उज्जवला योजना को महिला आरक्षण विधेयक के मार्फत मात देने की रणनीति बनाई है।

महिला आरक्षण बिल को लेकर काग्रेस अध्यक्ष ने पंजाब के मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अब देश की आधी आबादी की सत्ता में हिस्सेदारी की लड़ाई तेज करने का मन बनाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महिलाओं के बीच बहुचर्चित उज्जवला योजना को महिला आरक्षण विधेयक के मार्फत मात देने की रणनीति बनाई है।

उन्हें पता है कि उनका ये आइडिया क्लिक कर गया तो भाजपा को आसानी से घेरा जा सकेगा। देश की राजनीतिक व्यवस्था में 33 फीसदी महिला आरक्षण की भागीदारी को लेकर राहुल गांधी ने नए सिरे से आगाज किया है।

उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को पत्र लिखकर हिदायत दी है कि वे महिलाओं को सशक्त बनाने वाले इस मशविदे को राज्य विधानसभा से पारित करवाकर केंद्र को भेजें।
जाहिर है ये कदम कांग्रेस पार्टी की ओर से सांकेतिक रूप से महिलाओं के हित में दिखेगा, फिर गेंद केंद्र के पाले में डाल दी जाएगी।
उल्लेखनीय है तत्कालीन यूपीए सरकार ने महिला आरक्षण विधेयक 2010 में राज्यसभा से पारित कराकर लोकसभा भेजा था। जहां 33 फीसदी आरक्षण में एससी, एसटी और पिछड़ा वर्ग की महिलाओं को अलग से आरक्षण का मांग उठाकर बसपा, राजद, जदयू समेत विभिन्न दलों ने इसका विरोध किया था। मजे की बात ये थी कि तब कमोबेश भाजपा इसके पक्ष में थी।
भाजपा के रणनीतिकारों का मानना है कि महिला आरक्षण विधेयक का राग छेड़कर राहुल गांधी अपने ही गठबंधन दलों के बीच घिर जाएंगे, वे भाजपा को क्या घेरेंगे! भाजपा महिलाओं के सशक्तिकरण के पक्ष में हमेशा रही है।
Share it
Top