Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कांग्रेस ने आतंकवाद को लेकर मोदी सरकार पर दागे कई सवाल, पूछा सन्नाटे वाली चुप्पी का सबब

कांग्रेस ने बुधवार को पीएम मोदी पर उनकी दिशाहीन एवं अस्थिर विदेश एवं रक्षा नीति के कारण आतंकवाद एवं संघर्ष विराम उल्लंघनों के मामलों में कई गुना वृद्धि होने का आरोप लगाया।

कांग्रेस ने आतंकवाद को लेकर मोदी सरकार पर दागे कई सवाल, पूछा सन्नाटे वाली चुप्पी का सबब
X

कांग्रेस ने बुधवार को पीएम मोदी पर उनकी दिशाहीन एवं अस्थिर विदेश एवं रक्षा नीति के कारण आतंकवाद एवं संघर्ष विराम उल्लंघनों के मामलों में कई गुना वृद्धि होने का आरोप लगाया।

कांग्रेस ने पीएम मोदी द्वारा लोकसभा चुनाव से पहले आतंकवाद, नक्सलवाद और घुसपैठ को लेकर किए गये सवालों को आज उन्हीं पर दागते हुए दावा किया कि भाजपा नीत सरकार इन पर सन्नाटे वाली चुप्पी साधे हुई है।

जम्मू-कश्मीर में जान गंवाने वाले सुरक्षाकर्मियों संख्या में कई गुना बढ़ी

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि देश की सुरक्षा के साथ आए दिन समझौता हो रहा है, सरकार चुपचाप बैठी है। पार्टी ने कहा कि सरकार के 44 माह के शासनकाल में आतंकी घटनाओं संघर्षविराम उल्लंघनों तथा जम्मू-कश्मीर में जान गंवाने वाले सुरक्षाकर्मियों एवं नागरिकों की संख्या में कई गुना की वृद्धि हुई है।

यह भी पढ़ें- इंडियन आर्मी पर मंडराया हनी ट्रैप का साया, जबलपुर से एक अधिकारी गिरफ्तार

पीएम मोदी ने 2014 के आम चुनाव से पहले तत्कालीन संप्रग सरकार से पांच सवाल किये थे। आतंकवादियों के पास बारूद-शस्त्र कहां से आते हैं? उनके पास धन कहां से आता है? विदेशी घुसपैठी देश में कैसे आ जाते हैं? आतंकवादियों के संचार पर रोक क्यों नहीं लगा पा रही? विदेशों में बैठे आतंकवादियों का प्रत्यर्पण क्यों नहीं हो पा रहा?

सरकार ने 42 महीनों से सन्नाटे वाली चुप्पी साध रखी है

सिंघवी ने कहा कि आज पीएम मोदी की सरकार के पास सेना, सीमा सुरक्षा बल सहित सारे सुरक्षा बल हैं, संचार मंत्रालय है, वित्त मंत्रालय है, विदेश मंत्रालय है, फिर भी इन सवालों का कोई जवाब नहीं मिल रहा। उन्होंने कहा कि इन सवालों पर सरकार ने पिछले 42 महीनों से सन्नाटे वाली चुप्पी साध रखी है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी सरकार के शासनकाल के पिछले 44 माह में 286 जवानों और 138 नागरिकों की जान जा चुकी है।

यह भी पढ़ें- डोनाल्ड ट्रंप ने चीन को दी चेतावनी, कहा-बढ़ेगा व्यापार टकराव!

जबकि पिछली सरकार के शासनकाल में यह संख्या 115 और 72 थी। सिंघवी ने कहा कि इस सरकार के शासनकाल के 44 माह के दौरान पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाएं पांच गुना बढ़कर 2555 हो गयी जो संप्रग सरकार की इसी अवधि में 543 थीं। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और उनकी सरकार तथा उनकी पार्टी के अध्यक्ष को इन सवालों का जवाब देना चाहिए।

कांग्रेस देश के बहादुर जवानों के साथ खड़ी है

उन्होंने कहा कि इनके उत्तर में हमें राष्ट्रवाद का पाठ मत पढ़ाइयेगा। सिंघवी ने स्पष्ट किया कि कांग्रेस अपने बहादुर जवानों और देश की विश्व स्तरीय सेना के साथ खड़ी है तथा पाकिस्तान की निंदा करती है। किंतु हम इस बात की कब तक अनदेखी कर सकते हैं कि दिशाहीन, कमजोर, अस्थिर और मनमानी विदेश एवं रक्षा नीति के कारण हमारे बहादुर जवानों के लिए खतरा बन रही है।

संघर्ष विराम उल्लंघन घटनाओं में हुई वृद्धी

उन्होंने कहा कि आखिर पाकिस्तान का इतना साहस कैसे हो गया कि उसने संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं में पांच गुना वृद्धि कर दी। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से पूछा कि क्या यही आपकी बहादुरी और क्या यही आपका राष्ट्रवाद है या यह महज एक जुमलेबाजी है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story