Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ममता बनर्जी ने नेताजी सुभाष और स्‍वामी विवेकानंद के लिए की पीएम मोदी से मांग

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा।

ममता बनर्जी ने नेताजी सुभाष और स्‍वामी विवेकानंद के लिए की पीएम मोदी से मांग

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा। उन्हेंने पत्र लिखकर भारत के वतंत्रता सेनानी स्वामी विवेकानंद और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जन्‍मतिथि पर राष्ट्रीय अवकाश घोषित किए जाने की मांग की।

ममता का कहना है कि दोनों ही देश के अनमोल व्‍यक्तित्‍व रहे हैं।

आपको बता दें कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को उड़ीसा में कटक के एक संपन्न बंगाली परिवार में हुआ था। 'नेताजी' के नाम से प्रसिद्ध सुभाष चन्द्र बोस ने सशक्त क्रान्ति द्वारा भारत को स्वतंत्र कराने के उद्देश्य से 21 अक्टूबर, 1943 को 'आज़ाद हिन्द सरकार' की स्थापना की थी।

सुभाष चन्द्र बोस ने आज़ाद हिन्द फ़ौज का गठन किया। इस संगठन के प्रतीक चिह्न पर एक झंडे पर दहाड़ते हुए बाघ का चित्र बना होता था। नेताजी अपनी आजाद हिंद फौज के साथ 4 जुलाई 1944 को बर्मा पहुंचे। यहीं पर उन्होंने अपना प्रसिद्ध नारा, 'तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा' दिया।

18 अगस्त 1945 को टोक्यो जापान जाते समय ताइवान के पास नेताजी का एक हवाई दुर्घटना में निधन हुआ बताया जाता है, लेकिन उनका शव नहीं मिल पाया। नेताजी की मौत के कारणों पर आज भी विवाद बना हुआ है।

बता दें कि स्वामी विवेकानन्द जन्म 12 जनवरी, 1863 को कोलकता में हुआ। कोलकाता में जन्में नरेंद्र नाथ आगे चलकर स्वामी विवेकानंद के नाम से मशहूर हुए। विवेकानंद की जब भी बात होती है तो अमेरिका के शिकागो की धर्म संसद में साल 1893 में दिए गए भाषण की चर्चा ज़रूर होती है।

Next Story
Share it
Top