Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

2019 तक खुले से शौच मुक्त होगा भारत, सरकार ने बनाई ये रणनीति

12 अगस्त से उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद से आदर्श गंगा ग्राम अभियान शुरू किया जाएगा।

2019 तक खुले से शौच मुक्त होगा भारत, सरकार ने बनाई ये रणनीति

स्वच्छ भारत मिशन की तीसरी वर्षगांठ के अवसर पर ग्रामीण विकास, पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय ने मंगलवार को नई दिल्ली में स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण (दर्पण) 2017 का शुभारंभ किया। इस सर्वेक्षण के लिए प्रदर्शन, स्थिरता और पारदर्शिता को आधार माना गया है। हर तीन माह में इसकी समीक्षा की जाएगी।

ग्रामीण विकास, पेयजल और स्वच्छता मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में स्वच्छ भारत मिशन बहुत तेजी से चल रहा है। आज देश में 2 लाख 20 हजार 104 गांव, 160 जिले तथा 5 राज्य खुले में शौच से मुक्त हो चुके है।

हमारी पहली प्राथमिकता 2019 तक ग्रामीण क्षेत्रों को खुले से शौच मुक्त करना है। इसके साथ ही दूसरे चरण में ठोस व तरल अपशिष्ट पदार्थ का प्रबंधन करना प्राथमिकता में है। गांव जैसे जैसे खुले में शौच से मुक्त हो रहे उन क्षेत्रों में ठोस व तरल अपशिष्ट पदार्थ के प्रबंधन का काम शुरू किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: टॉयलेट पर फिल्म बनाकर BMC के एंबेसडर बने अक्षय कुमार

2014 में ग्रामीण क्षेत्र में स्वच्छता मिशन शुरू हुआ तब स्वच्छता 39 प्रतिशत थी। आज यह 66 प्रतिशत हो गई है। श्री तोमर ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के निर्देश के बाद देश के सभी 77 मंत्रालय में भी स्वच्छता को लेकर जागरूकता आई है।

इन मंत्रालय द्वारा 12 हजार करोड़ काम काम स्वच्छता के लिए किया गया। श्री तोमर ने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण 2017 के तहत क्वालिटी कांउसिल आफ इंडिया (क्यूसीआई) के द्वारा 4626 गांवों में एक लाख चार हजार लोगों पर सर्वेक्षण किया गया। इसमें सामने आया कि 91.29 प्रतिशत लोग शौचालय का इस्तेमाल करते है।

उप्र में चलेगा विशेष अभियान

केंद्रीय मंत्री तोमर ने बताया कि 9 अगस्त से 15 अगस्त से खुले में शौच से आजादी अभियान सभी राज्यों में व्यापक स्तर पर चलाया जाएगा। वहीं 12 अगस्त से उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद से आदर्श गंगा ग्राम अभियान शुरू किया जाएगा। इसमे उप्र,बिहार, उत्तराखंड और झारखंड के गांवों को भी शामिल किया गया है।

इसमें केंद्रीय जलसंसाधन मंत्री उभा भारती भी शामिल होंगी। इसके अलावा उप्र में 30 स्वच्छता रथ भी चलाए जाएंगे। वहीं पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती 25 सितंबर से गांधी जयंती 2 अक्टूबर तक पूरे देश में स्वच्छता को लेकर प्रतिस्पर्धा और विभिनन कार्यक्रम आयोजित होंगे।

Next Story
Share it
Top