logo
Breaking

न्यूजीलैन्ड की दो मस्जिदों में फायरिंग, 50 की मौत, फेसबुक पर हमले की लाइव स्ट्रीमिंग

न्यूजीलैंड का क्राइस्टचर्च शहर शुक्रवार को मास शूटिंग की वारदात से दहल गया। शहर की 2 मस्जिदों में हमलावरों ने अंधाधुंध फायरिंग की, जिसमें कम से कम 50 लोगों की मौत की खबर है। मुख्य हमलावर की पहचान ब्रेंटन टैरंट के रूप में हुई है। फायरिंग करने वाले मुख्य आरोपी ब्रेंटन टैरंट सहित कुल 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें 1 महिला भी शामिल है।

न्यूजीलैन्ड की दो मस्जिदों में फायरिंग, 50 की मौत, फेसबुक पर हमले की लाइव स्ट्रीमिंग
न्यूजीलैंड का क्राइस्टचर्च शहर शुक्रवार को मास शूटिंग की वारदात से दहल गया। शहर की 2 मस्जिदों में हमलावरों ने अंधाधुंध फायरिंग की, जिसमें कम से कम 50 लोगों की मौत की खबर है। मुख्य हमलावर की पहचान ब्रेंटन टैरंट के रूप में हुई है। फायरिंग करने वाले मुख्य आरोपी ब्रेंटन टैरंट सहित कुल 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें 1 महिला भी शामिल है।
पुलिस का कहना है कि दोनों मस्जिद पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। यह स्पष्ट नहीं है कि क्या दोनों मस्जिदों में एक ही हमलावर ने गोलीबारी की थी या अलग-अलग लोगों ने। पुलिस ने बताया कि सेना ने दो आईईडी बरामद किए हैं और उन्हें निष्क्रिय कर दिया गया है। हमलावर सहित एक बंदूकधारी की पहचान आस्ट्रेलियाई चरमपंथी के रूप में हुई है जिसने हमले की स्पष्ट रूप से ऑनलाइन लाइवस्ट्रीमिंग की।

चलो पार्टी शुरू करते हैं

खास बात यह है कि ब्रेंटन टैरंट ने गुरुवार रात को ही फेसबुक पर पोस्ट लिखकर हमले की धमकी दी थी। उसने फेसबुक पोस्ट में लिखा था, 'मैं आक्रमणकारियों के खिलाफ हमला करूंगा और फेसबुक के जरिए हमले की लाइव स्ट्रीमिंग तक करूंगा।' वीडियो की शुरुआत में वह 'चलो, पार्टी शुरू करते हैं' कहते हुए सुनाई दे रहा है। हमले से पहले अपनी पोस्ट में टैरंट ने लिखा था, 'अगर मैं हमले में नहीं बचता हूं तो आप सभी को अलविदा!

फेसबुक पर 17 मिनट तक किया लाइव

लाइव वीडियो में दिखाया कि वह कार से सेन्ट्रल क्राइस्टचर्च के अल नूर मस्जिद की तरफ बढ़ रहा है। कार में उसने कई हथियार भी जमा कर रखे थे, जिसे फेसबुक लाइव के दौरान भी दिखाया था। एक जगह वह कार से उतरता है और जमीन में ताबड़तोड़ गोलियां दागता है। बैकग्राउंड में सर्बियन म्यूजिक बज रहा था और वह सैटलाइट नैविगेशन के जरिए गाड़ी मोड़ रहा था जो उसे यह बताता था कि कब किस ओर मुड़ना है।

17 उड़ानें रद्द

न्यूजीलैंड में क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में शुक्रवार को हुई गोलीबारी के बाद एयर न्यूजीलैंड ने यहां से आने-जाने वाली 17 उड़ानों को रद्द कर दिया। एयरलाइन ने कहा कि क्षेत्रीय मार्गों पर यात्रा करने वाले कुछ छोटे विमानों की सेवा को रद्द कर दिया गया है जबकि बड़े जेट विमानों का उतरना और उड़ान भरना जारी रहेगा क्योंकि इनके लिए सुरक्षा प्रक्रिया को पहले से ही पूरा कर लिया गया है।

भारतीय मिशन ने की मदद की पेशकश

न्यूजीलैंड में भारत के उच्चायुक्त ने शुक्रवार को कहा कि यहां क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों पर हमलों में प्रभावित कोई भी भारतीय नागरिक मदद के लिए मिशन से संपर्क कर सकता है। मिशन ने घटना पर दुख जताते हुए मदद के लिए दो फोन नंबर भी ट्वीट किये जिन पर संपर्क किया जा सकता है। इनमें 021803899 और 021850033 हैं।

चारों तरफ शव पड़े थे

हमले के समय डीन अवे मजिस्द में नमाज पढ़ रहे एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि उसने बाहर अपनी पत्नी का शव फुटपाथ पर पड़ा देखा। लोग भाग रहे थे। कुछ लोग खून से सने थे। एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि उसने बच्चों पर गोलियां चलती देखीं। मेरे चारों ओर शव थे।

बची बांग्लादेशी टीम, मैच रद्द

न्यूज़ीलैंड के शहर क्राइस्टचर्च में शुक्रवार सुबह हुई गोलीबारी में बांग्लादेश की क्रिकेट टीम बाल-बाल बच गई। क्राइस्टचर्च में मौजूद बांग्लादेश क्रिकेट टीम का न्यूजीलैंड के साथ होने वाला तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच यहां मस्जिदों में गोलीबारी के मद्देनजर रद्द कर दिया गया। जब हमला हुआ, उस समय बांग्लादेश की टीम मस्जिद में प्रवेश करने ही वाली थी।‘ टीम सुरक्षित बच कर निकटवर्ती हेगले ओवल पहुंची। टीम को एक होटल में रखा गया है। होटल में किसी के अंदर जाने या किसी के होटल से बाहर जाने पर प्रतिबंध है।

ऑस्ट्रेलिया में पैदा हुआ था मुख्य हमलावर

28 साल का मुख्य हमलावर ब्रेंटन टैरंट ऑस्ट्रेलिया में पैदा हुआ था। उसने अपनी मंशा का ऐलान करते हुए 37 पेजों का एक मैनिफेस्टो भी लिखा है, जिसका शीर्षक है- 'द ग्रेट रिप्लेसमेंट' यानी महान बदलाव। इसे एक मेसेज बोर्ड वेबसाइट पर पोस्ट किया गया था। अबतक उसके बारे में जो भी जानकारियां सामने आई हैं, वह उसकी फेसबुक प्रोफाइल पर दिए गए परिचय और मैनिफेस्टो पर आधारित हैं।

खुद को बताया 'साधारण श्वेत व्यक्ति'

ब्रेंटन टैरंट ने खुद का परिचय '28 साल का एक साधारण श्वेत शख्स' के तौर पर बताया है, जिसका जन्म ऑस्ट्रेलिया में एक निम्न आय वाले परिवार में हुआ था। 'हमला क्यों किया' इस शीर्षक के तहत उसने लिखा है कि यह 'विदेशी आक्रमणकारियों द्वारा हजारों लोगों की मौत' का बदला लेने के लिए है।

2 साल से रची हमले की साजिश

अपने द्वारा लिखे 37 पेज के दस्तावेज में हमलावर ने दावा किया है कि वह पिछले 2 सालों से हमले की साजिश रच रहा था। उसने यह भी दावा किया है कि 3 महीने पहले ही उसने हमले वाली जगह का चुनाव किया था।
Share it
Top