Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Chinook Helicopter Specialties : ''चिनूक हेलीकॉप्टर की खासियत''

भारतीय वायुसेना के बेड़े में आज ''चिनूक'' हेलीकॉप्टर शामिल हो गया है। चिनूक हेलीकॉप्टर डील इंडिया की अमेरिका से हुई थी। चिनूक हेलीकॉप्टर को अमेरिकी कंपनी बोइंग ने बनाए हैं। चार चिनूक सीएच-47आई हेलीकॉप्टर भारत आए हैं, जबकि 15 हेलीकॉप्टर खरीदे गए हैं। चिनूक हेलीकॉप्टर की खासियत यह है कि ये हेलिकॉप्टर 20 हजार फीट से भी ऊपर उड़ सकता है।

Chinook Helicopter Specialties :

भारतीय वायुसेना के बेड़े में आज 'चिनूक' हेलीकॉप्टर शामिल हो गया है। चिनूक हेलीकॉप्टर डील इंडिया की अमेरिका से हुई थी। चिनूक हेलीकॉप्टर को अमेरिकी कंपनी

बोइंग ने बनाए हैं। चार चिनूक सीएच-47आई हेलीकॉप्टर भारत आए हैं, जबकि 15 हेलीकॉप्टर खरीदे गए हैं। चिनूक हेलीकॉप्टर की खासियत यह है कि ये हेलिकॉप्टर 20 हजार फीट से भी ऊपर उड़ सकता है। आइये जानते हैं चिनूक हेलीकॉप्टर की विशेषता...

चिनूक हेलीकॉप्टर की खासियत

  1. चिनूक हेलीकॉप्टर की ताकत की बात करें तो इसमें एकीकृत डिजिटल कॉकपिट मैनेजमेंट सिस्टम है।
  2. चिनूक हेलीकॉप्टर की विशेषता की बात करें तो यह कॉमन एविएशन आर्किटेक्चर कॉकपिट और एडवांस्ड कॉकपिट जैसी टेक्नोलॉजी से लैस है।
  3. चिनूक हेलीकॉप्टर की ताकत इतनी है कि इस हेलिकॉप्टर में एक बार में गोला बारूद, हथियार के अलावा सैनिक भी जा सकते हैं।
  4. चिनूक हेलीकॉप्टर को रडार से पकड़ पाना भी मुश्किल है। चिनूक हेलीकॉप्टर भारी मशीनों और तोपों को भी उठाकर ले जा सकता है।
  5. 20 हजार फीट की ऊंचाई तक उड़ने वाला चिनूक हेलीकॉप्टर 10 टन तक के वजन को उठाकर कहीं भी ले जा सकता है।
  6. चिनूक हेलीकॉप्टर 280 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ता है, जबकि इसकी ऊंचाई 18 फीट और चौड़ाई 16 फीट है।
  7. चिनूक हेलीकॉप्टर को दो पायलट उड़ा सकते हैं। इस हेलिकॉप्टर का 26 देशों में इस्तेमाल किया जाता है और इन देशों में अब भारत भी जुड़ गया है।
Next Story
Share it
Top