Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पीएम मोदी ने किया चीनी राष्ट्रपति का भव्‍य स्वागत, तीन समझौतों पर हुए दस्‍तखत

भारत को उम्मीद है कि शी की यात्रा से दोनों देशों के ''हितों व चिंताओं'' का समाधान किया जाएगा।

पीएम मोदी ने किया चीनी राष्ट्रपति का भव्‍य स्वागत, तीन समझौतों पर हुए दस्‍तखत
अहमदाबाद. चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग तीन दिन के दौरे पर भारत पहुंच गए हैं। वह दिल्ली की बजाय गुजरात से अपनी भारत यात्रा की शुरुआत कर रहे हैं, जिसे लेकर अहमदाबाद में शानदार तैयारी की गई है। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग किसी प्रमुख देश के शायद पहले राष्ट्राध्यक्ष हैं, जिनकी सरकारी भारत यात्रा गुजरात से शुरू हो रही है। हयात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मौजूदगी में भारत और चीन के बीच तीन समझौतों हुए। चीन के ग्वांग्डोंग प्रांत और गुजरात में समझौता, गुजरात में इंडस्ट्रियल पार्क बनाने का समझौता, ग्वांगझाओ और अहमदबाद के बीच ट्रेनिंग का समझौता, चीन डवलपमेंट बैंक और GIDC के बीच करार हुआ। ये तीनों समझौते गुजरात के लिए हुए।
चीनी राष्ट्रपति अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंचे, जहां उनका भव्य स्वागत किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हयात होटल में शी चिनफिंग के स्वागत के लिए मौजूद रहे। शी चिनफिंग पीएम मोदी के साथ डिनर करेंगे और डिनर के बाददिल्ली के लिए रवाना होंगे। चीनी राष्ट्रपति रात 9 बजकर 20 मिनट पर दिल्ली पहुंचेंगे।
मोदी चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के लिए 'गाइड' का रोल निभाते नजर आए। मोदी ने जिनपिंग को साबरमती आश्रम घुमाया और उन्‍हें आश्रम के संबंध में तमाम जानकारियां दीं। जिनपिंग खादी की जैकेट पहन कर आश्रम पहुंचे और मोदी ने सूत की माला पहना कर उनका स्‍वागत किया। बुधवार को अपना 64वां जन्‍मदिन मनाने वाले मोदी ने इससे पहले चीनी राष्‍ट्रपति को होटल हयात की लॉबी में लगी तस्‍वीरों के जरिए गुजरात में बौद्ध धर्म से जुड़ी विरासत के बारे में बताया था। उन्‍होंने बौद्ध धर्म से जुड़ी तस्‍वीरें दिखाते हुए जिनपिंग को बौद्ध संस्‍कृति के बारे में समझाया।
इसके बाद मोदी और जिनपिंग ने आपस में बातचीत की। इसके बाद दोनों नेताओं की मौजूदगी में तीन समझौतों पर दस्‍तखत हुए। ये समझौते ग्‍वांगजाओ की तर्ज पर अहमदाबाद को विकसित करने, वडोदरा में इंडस्ट्रियल पार्क बनाने और गुजरात के विकास के लिए चीन के ग्‍ंवागडोंग प्रांत की मदद लेने से संबंधित हैं।
जिनपिंग अपने तीन दिवसीय दौरे पर बुधवार को भारत पहुंचे। उनका विमान तयशुदा वक्‍त से 20 मिनट की देरी से अहमदाबाद एयरपोर्ट पर लैंड हुआ। वह दोपहर 2 बजकर 30 मिनट पर पहुंचने वाले थे। उनका स्‍वागत करने के लिए राज्‍यपाल और गुजरात की मुख्‍यमंत्री मौजूद थे। चीनी राष्‍ट्रपति के साथ उनकी पत्‍नी भी मौजूद थीं। एयरपोर्ट पर उन्‍हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। पीएम नरेंद्र मोदी होटल में राष्‍ट्रपति का स्‍वागत करेंगे। उधर, दिल्‍ली में तिब्‍बती प्रदर्शनकारियों ने चीन के राष्‍ट्रपति के दौरे के विरोध में प्रदर्शन किया।
चीनी राष्ट्रपति की यात्रा के दौरान विवादास्पद सीमा मुद्दों को सुलझाने के अलावा व्यापार एवं निवेश बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा। भारत को उम्मीद है कि शी की यात्रा से दोनों देशों के 'हितों व चिंताओं' का समाधान किया जाएगा और सीमा विवाद सहित द्विपक्षीय संबंधों के रास्ते में बाधा बन रहे सभी महत्वपूर्ण मुद्दों को निपटाया जाएगा।
भारत के साथ अपने व्यापारिक संबंधों को बढ़ाने का इच्छुक चीनी पक्ष पहले ही संकेत दे चुका है कि वह शी की यात्रा के दौरान भारत के रेलवे, विनिर्माण, ढांचागत परियोजनाओं में अरबों डॉलर का निवेश करने की प्रतिबद्धता जाहिर करेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत, चीन के साथ अधिक प्रगाढ़ संबंध चाहता है, लेकिन साथ ही 'चिंता के मुद्दों' पर प्रगति चाहता है। मोदी ने कहा कि इन चिंताओं के समाधान से संबंधों में माहौल बदलेगा।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, कहां-कहां का दौरा करेंगे चीनी राष्ट्रपति -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Top