Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मोदी-शी जिनपिंग के बीच शिखर वार्ता खत्‍म, 12 समझौतों पर बनी सहमति

दिल्ली में दोनों के बीच भारत-चीन सीमा विवाद सहित कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचार विमर्श होगा।

मोदी-शी जिनपिंग के बीच शिखर वार्ता खत्‍म, 12 समझौतों पर बनी सहमति
नई दिल्ली. चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच अहम शिखर वार्ता खत्म हो गई है। यह वार्ता करीब डेढ़ घंटे तक चली। इस दौरान दोनों देशों के बीच सीमा पर घुसपैठ समेत कई मुद्दों पर बात हुई और 12 समझौतों पर हस्‍ताक्षर हुए। भारत के पीएम नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति से साझा बयान जारी करते हुए कहा कि सीमा संबंधी समझौतों से फायदा हुआ है। कई सालों से एलएसी का मुद्दा लटका हुआ है। इस पर जल्द समाधान ढूंढ़ना चाहिए। उन्‍होने कहा कि सीमा विवाद का निपटारा शीघ्र होना चाहिए।
मोदी ने कहा कि चीन ने कैलाश मानसरोवर की यात्रा के लिए नाथूला से नया रास्ता खोलने की अनुमति दी है। मोदी ने कहा कि आज हुई समझौते और घोषणाएं दिखाते हैं कि आपसी साझेदारी बाढ़ाने के लिए संपर्क और सांस्कृतिक आदान-प्रदान को केंद्र मानते हैं। उन्‍होंने कहा कि हमने चीन को इंफ्रास्ट्रक्चर और मैन्युफैक्चरिंग में निवेश के लिए आमंत्रण दिया है। भारत में दो चाइनीज इंडस्ट्रियल पार्क बनाने पर समझौता हुआ है। आर्थिक संबंधों का नया अध्याय है। हम दोनों ही महसूस करते हैं कि व्यापार की गति कम हुई है। आर्थिक संबंध क्षमता से कम हैं।
मोदी ने कहा कि दानों देशों ने तय किया है कि आपसी आदान-प्रदान बनाए रखेंगे। शिखर वार्ताओं का दौर चलता रहेगा। मोदी ने कहा कि पिछले दो दिनों में अहमदाबाद और दिल्ली में भारत और चीन के बीच सभी मुद्दों पर चर्चा का मौका मिला। दोनों देशों के बेहतर संबंध के लिए सीमा पर शांति और एक-दूसरे पर विश्वास जरूरी है।
चीन के राष्टरपति शी जिनपिंग साझा बयान जारी कर कहा, 'चीन की जनता की तरफ से खूबसूरत देश भारत के सभी लोगों का अभिनंदन करता हूं। भारत की अतुलनीय उपलब्धियों को देखकर खुश हूं। पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत और विकास करेगा, मुझे इसकी उम्मीद है।' उन्‍होंने कहा कि भारत-चीन-म्यामांर-बांग्लादेश के बीच इकनॉमिक कॉरिडोर बनेगा। दोनों ही देशों ने भारत-चीन के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान के लिए सहमति जताई है।
फिल्म फेस्टिवल और दिल्ली बुक फेयर में चीन शिरकत करेगा। उन्‍होंने कहा कि गुजरात में चीन दो इंडस्ट्रियल पार्क बनाएगा। महाराष्ट्र में भी ऑटो सेक्टर के लिए इंडस्ट्रियल पार्क बनाएंगे। उन्‍ होंने कहा,'पीएम मोदी को अगले साल चीन आने के लिए निमंत्रण देता हूं।' बता दें की जिनपिंग का भारत में आज दूसरा दिन है।
इससे पहले बुधवार को अहमदाबाद के होटल हयात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मौजूदगी में भारत और चीन के बीच तीन समझौते हुए। चीन के ग्वांग्डोंग प्रांत और गुजरात में समझौता, गुजरात में इंडस्ट्रियल पार्क बनाने का समझौता, ग्वांगझाओ और अहमदबाद के बीच ट्रेनिंग का समझौता, चीन डवलपमेंट बैंक और GIDC के बीच करार हुआ। ये तीनों समझौते गुजरात के लिए हुए।
राष्ट्रपति पद का कार्यभार संभालने के एक वर्ष बाद चीनी नेता ने अपनी पहली भारत यात्रा की शुरुआत अहमदाबाद से की। अहमदाबाद में कारोबारी कामकाज पूरा करने के बाद शी, मोदी के साथ साबरमती नदी के तट पर ढलते सूरज के बीच नयनाभिराम साबरमती रिवरफ्रंट पर शाकाहारी गुजराती भोजन का लुत्फ उठाया। मोदी ने शी की इस यात्रा को अलग रूप प्रदान करने का प्रयास किया और शहर में आने पर शी और उनकी पत्नी के लिए बेहतरीन मेजबान की भूमिका निभाई। इस दौरान भारत और चीन ने गुजरात से संबंधित तीन विशिष्ट समझौतों पर हस्ताक्षर किए।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, कैसे रहा चीनी राष्ट्रपति का पहला दिन -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top