Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

परमाणु ताकत बढ़ाने वाले डोनाल्ड ट्रंप के बयान से चीन परेशान

ट्रंप ने कहा था कि हमें परमाणु हथियारों के जखीरे को और बढ़ाना होगा।

परमाणु ताकत बढ़ाने वाले डोनाल्ड ट्रंप के बयान से चीन परेशान
नई दिल्ली. चीन ने शुक्रवार को कहा कि वह अमेरिका की परमाणु क्षमता को 'काफी मजबूत' करने के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के आह्वान को लेकर 'चिंतित' है। चीन ने कहा कि इसके बजाय अमेरिका को निरस्त्रीकरण में मदद करने के लिए परमाणु आयुध में कमी करने का नेतृत्व करना चाहिए।
चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने पत्रकारों से कहा, 'हम चिंतित हैं। मैं निरस्त्रीकरण को लेकर चीन के रुख पर दोबारा जोर देती हूं। हम परमाणु हथियारों के पूर्ण निषेध और विनाश का समर्थन करते हैं। सबसे ज्यादा परमाणु आयुध वाले देश को परमाणु निरस्त्रीकरण में खास और पहली जिम्मेदारी लेनी चाहिए।'
हुआ ट्रम्प द्वारा गुरुवार को किए गए ट्वीट पर प्रतिक्रिया दे रही थीं, जिसमें निर्वाचित राष्ट्रपति ने अपनी बात पूरी तरह साफ किए बिना कहा था, 'जब तक परमाणु हथियारों के मामले में दुनिया को सद्बुद्धि नहीं आ जाती, तब तक अमेरिका को अपनी परमाणु क्षमताओं को काफी मजबूती और विस्तार देना चाहिए।'
यह पूछे जाने पर कि क्या ट्रम्प की टिप्पणी से अमेरिका, रूस और चीन के बीच परमाणु हथियारों की होड़ शुरू हो सकती है, प्रवक्ता ने कहा, 'सबसे ज्यादा परमाणु आयुध वाले देश को परमाणु निरस्त्रीकरण में खास जिम्मेदारी लेनी चाहिए और इसके अनुकूल दशाएं तैयार करने की खातिर परमाणु आयुध में नाटकीय रूप से कमी लाने का नेतृत्व करना चाहिए।'
एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, 7,000 से अधिक परमाणु हथियारों के साथ अमेरिका के पास परमाणु हथियारों का सबसे बड़ा जखीरा है और उसके बाद क्रमश: रूस, ब्रिटेन, फ्रांस और चीन आते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top