Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चीन को पाक आतंकियों से खतरा, अपने नागरिकों को किया अलर्ट

चीनी नागरिकों को पाकिस्तान पुलिस और सेना के साथ सहयोग करने के अलावा कहा गया है कि आपात स्थिति में दूतावास को अलर्ट करें।

चीन को पाक आतंकियों से खतरा, अपने नागरिकों को किया अलर्ट

पाकिस्तान में भारी-भरकम निवेश करने वाले चीन को भी अब पाकिस्तानी आतंकवादियों से डर लगने लगा है। चीन ने शुक्रवार को पाकिस्तान में रह रहे अपने नागरिकों और निवेशकों को आतंकी हमलों से सावधान किया।

यह असामान्य इसलिए है, क्योंकि चीन पाकिस्तान में बड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स में भारी निवेश कर रहा है। चीन यहां 57 अरब डॉलर के बेल्ट एंड रोड प्रोजेक्ट तैयार कर रहा है और इसके लिए चीन के हजारों वर्कर्स पाकिस्तान में हैं।

इसे भी पढ़ें- कुलभूषण जाधव से मिलेगी मां और पत्नी, सुरक्षा की जिम्मेदारी पाकिस्तान की

पाकिस्तान स्थित चीनी दूतावास ने अपनी वेबसाइट पर एक बयान में कहा, यह समझा जा रहा है कि पाकिस्तान में रह रहे चाइनीज व्यक्तियों और संगठनों पर आतंकवादी सिलसिलेवार हमले कर सकते हैं।

दूतावास ने अपने नागरिकों और संगठनों को सुरक्षा सतर्कता बढ़ाने, आंतरिक एहतियात को मजबूत करने बाहर कम जाने और भीड़भाड़ वाले स्थानों से दूर रहने को कहा है।

सेना और पुलिस से सहयोग करने कहा

चीनी नागरिकों को पाकिस्तान पुलिस और सेना के साथ सहयोग करने के अलावा कहा गया है कि आपात स्थिति में दूतावास को अलर्ट करें।

हालांकि हमलों की आशंका को लेकर और डीटेल नहीं दी गई है। इस मुद्दे पर अभी पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की प्रतिक्रिया नहीं मिली है।

चीन को लंबे समय से यह चिंता सता रही है कि शिनजियांग प्रांत के असंतुष्ट मुस्लिम समुदाय की पाकिस्तान और अफगानिस्तान के आतंकवादियों से दोस्ती हो गई है।

इस बीच पाकिस्तान के दक्षिण पश्चिम प्रांत बलूचिस्तान में हिंसा ने पश्चिम चीन से पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट के बीच ट्रांसपोर्ट और एनर्जी लिंक्स की सुरक्षा को लेकर चिंता बढ़ा दी है।

बलूचिस्तान में अलकायदा, इस्लामिक स्टेट और तालिबान सक्रिय

अलकायदा, इस्लामिक स्टेट और तालिबान सभी बलूचिस्तान में सक्रिय हैं, जिसका बॉर्डर ईरान और अफगानिस्तान से मिला हुआ है और यह बेल्ट एंड रोड पहल का केंद्र है।

इतना ही नहीं, गैस और मिनरल स्रोतों में अधिक हिस्से के लिए अलगाववादी लंबे समय से सरकार से लड़ रहे हैं और एनर्जी व दूसरे इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स पर हमला करते रहे हैं।

Next Story
Top