Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चीन ने 2018 के लिए रक्षा बजट बढ़ाकर किया 175 अरब डॉलर, भारत से है 4 गुना ज्यादा

चीन ने सेना की मॉडर्न तकनीक को आगे बढ़ाने का प्रयास करते हुए इस साल रक्षा बजट में बढ़ोतरी की है।

चीन ने 2018 के लिए रक्षा बजट बढ़ाकर किया 175 अरब डॉलर, भारत से है 4 गुना ज्यादा

चीन ने सेना की मॉडर्न तकनीक को आगे बढ़ाने का प्रयास करते हुए इस साल रक्षा बजट में 8.1 प्रतिशत की बढोत्तरी करते हुए सोमवार को उसे 175 अरब डॉलर किए जाने की सार्वजनिक घोषणा कर दी है।

यह रक्षा बजट भारत के रक्षा बजट का तकरीबन चार गुना है। भारत का रक्षा बजट करीब 46 अरब डॉलर का है। बता दें कि चीन ने पिछले साल की तुलना में रक्षा बजट में 8.1 प्रतिशत की वृद्धि कर उसे 175 अरब डॉलर कर दिया है।

इसे भी पढ़े: बांग्लादेश में लेखक ज़फर इकबाल पर हमला, आरोपी गिरफ्तार

नेशनल पीपुल्स कांग्रेस में पेश किए गए आधिकारिक दस्तावेज के अनुसार 2018 का रक्षा बजट 1110 अरब युआन (175 अरब डॉलर) होगा। गौरतलब है कि पिछले साल चीन ने रक्षा खर्च को बढ़ाकर 150.5 अरब डॉलर किया था।

वैश्विक स्तर पर चीन, अमेरिका के बाद रक्षा बजट पर खर्च करने वाला दूसरा सबसे बड़ा देश है। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने 2019 में रक्षा बजट को 686 अरब डॉलर करने का अनुरोध किया है, जो कि बीते वर्ष 2017 के रक्षा बजट से 80 अरब डॉलर अधिक है।
चीनी मीडिया ने रक्षा बजट को बढ़ाकर 175 अरब डॉलर किए जाने पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि यह पिछले दो साल की अपेक्षा बेहतर है। 2016 के चीनी रक्षा बजट में 7.6 प्रतिशत और 2017 में सात प्रतिशत की बढोत्तरी की गई थी।
चीन के एनपीसी के प्रवक्ता झांग येसुई ने कल अपने बयान में कहा था कि अन्य प्रमुख देशों की तुलना में चीन का रक्षा बजट जीपीडी और राष्ट्रीय राजकोषीय व्यय का एक छोटा सा हिस्सा है। उन्होंने कहा कि उसका प्रति व्यक्ति सैन्य खर्च अन्य प्रमुख देशों की तुलना में कम है।
झांग येसुई ने कहा कि "रक्षा बजट की वृद्धि का एक बड़ा हिस्सा पूर्व में किए गए कम सैन्य खर्च की भरपाई है और इसका उपयोग मूल रूप से उपकरणों की बेहतरी, सैन्यकर्मियों के कल्याण और जमीनी स्तर पर तैनात टुकड़ियों के रहन-सहन के स्तर और प्रशिक्षिण स्तरों को बेहतर बनाने के लिए किया जाएगा।
Next Story
Top