Breaking News
दिल्लीः आशीष पांडे ने पटियाला हाउस कोर्ट में सरेंडर कियामध्य प्रदेश: त्रिवेंद्रम राजधानी एक्सप्रेस से टकराया ट्रक, ड्राइवर की मौके पर दर्दनाक मौत- दो कोच पटरी से उतरेशर्मनाक! दो सगे भाईयों ने नाबालिग बहन को बनाया हवस का शिकार, 4 साल तक किया बलात्कारजम्मू-कश्मीर: पुलवामा में तहरीक-उल-मुजाहिदीन का आतंकी शौकत भट मारा गयाखुशखबरी : तेल कंपनियों ने घटाए दाम, पेट्रोल 21 पैसे और डीजल 11 पैसे हुआ सस्तानवरात्रि 2018 : आज देशभर में मनाई जा रही रामनवमी, मंदिरों में लगी भक्तों की भीड़केरल: कड़ी सुरक्षा के बीच खुले सबरीमाला मंदिर के कपाट, 10: 30 बजे तक होंगे दर्शन#MeToo: केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर ने दिया इस्तीफा
Top

चीन का तुगलकी फरमान, ईसाइयों से कहा जीसस की फोटो हटाओ जिनपिंग की लगाओ

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 15 2017 12:07PM IST
चीन का तुगलकी फरमान, ईसाइयों से कहा जीसस की फोटो हटाओ जिनपिंग की लगाओ

चीन ने दक्षिण पूर्वी क्षेत्र में रह रहे ईसाइयों को तुगलकी फरमान सुनया है। चीन ने कहा कि अगर गरीबी दूर भगानी है तो क्राइस्ट की नहीं राष्ट्रपति शी जिनपिंग की फोटो लगाओ। ईसाइयों को कहा गया है कि अगर गरीबी रेखा से ऊपर उठना है तो उन्हें जीसस क्राइस्ट नहीं बल्कि राष्ट्रपति शी जिन पिंग बचाएंगे, इसलिए जीसस के बजाए जनपिंग की पूजा करें।

 
उल्लेखनीय है कि ग्रामीण दक्षिण पूर्वी चीन के यूगान काउंटी में ईसाइयों की संख्या हजारों में है। इसके साथ ही पोयांग के किनारे पर बसे चीन के उस जियांशई प्रांत में हजारों की संख्या में ईसाई धर्म के गरीब लोग रहते हैं। 
 
 
एक रिपोर्ट के मुताबिक अगर चीन में 10 लाख गरीब हैं तो उनमें से 11 फीसदी गरीबी रेखा के नीचे हैं और उसमें से 10 फीसदी ईसाई धर्म के लोग हैं।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
china gave dictatorial order to christians said remove the photos of chirst and hang xi jinping photo

-Tags:#China#Xi jinping

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo