Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Childrens Day 2018: जवाहर लाल नेहरू के बारे में 10 अनसुनी बातें...

बाल दिवस 2018: भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन को पूरे देश में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। जवाहर लाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर 1889 को इलाहाबाद बदला हुआ नाम प्रयागराज में हुआ था।

Childrens Day 2018: जवाहर लाल नेहरू के बारे में 10 अनसुनी बातें...

बाल दिवस 2018: भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन को पूरे देश में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। जवाहर लाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर 1889 को इलाहाबाद बदला हुआ नाम प्रयागराज में हुआ था।

नेहरू को बच्चों को से बहुत लगाव रहा था, इसलिए अपने जीवन में बच्चों के लिए कई कल्याणकारी कार्य भी किए थे। नेहरू को सभी लोग प्यार से चाचा कहकर भी बुलाते थे।

यह भी पढ़ेंः पंडित जवाहरलाल नेहरू के अनमोल विचार किसी की भी सोच को बदल सकते हैं, यकीन नहीं तो आजमा के देख लें

जवाहर लाल नेहरू के बारे में 10 अनसुनी बातें...

1. जवाहर लाल नेहरू देश हित के लिए अपने जीवन में 9 बार जेल गए, उन्हें पहली बार साल 1929 में जेल हुई थी और 1945 में भारत रत्न से चाचा नेहरू को संमानित किया गया था।

2. जवाहर लाल नेहरू को 1941 में एक बुद्धिमान और सफल नेता का दर्जा मिला था। इसलिए वे स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री बने। पंडित जवाहर लाल नेहरू की सोलह वर्ष की आयु तक की शिक्षा उनके घर से ही हुई थी। इसके बाद वे ब्रिटेन चले गए और वहां से आगे की पढ़ाई की थी।

3. जवाहर लाल नेहरू लाल किले पर तिरंगा फहराने वाले पहले व्यक्ति थे। उन्होंने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले पर 17 बार ध्वजारोहण किया।

4. जवाहरलाल नेहरू पर 4 बार जानलेवा हमला हुआ था और अंतिम संस्कार में 15 लाख लोग शामिल हुए थे।

5. पंडित जवाहर लाल नेहरू ने अंग्रेजी व हिंदी में कई पुस्तकें लिखी है, वे एक अच्छे लेखक थे। उन्होंने एन ऑटोबायोग्राफी पुस्तक 1936 में लिखी थी।

6. जवाहर लाल नेहरू ने चंद्र शेखर आजाद को रुस जाने के लिए 1,200 रुपए उधार दिए थे।

7. जवाहर लाल नेहरू ने सरदार पटेल को अंधरे में रखकर जम्मू कश्मीर में धारा 370 की तैयारी की थी। जवाहर लाल नेहरू की वकील प्रक्टिस करना चहाते थे, लेकिन महात्मा गांधी के अंग्रेज मुक्त भारत अभियान में शामिल हो गए थे।

8. जवाहर लाल नेहरू ने अपने जीवन काल में कई आईआईएससी और आईआईटी जैसे कई बड़े शैक्षिक संस्थान भी खोले। उनके नाम से एक यूनिवर्सिटी है उसे जेएनयू के नाम से जाना जाता है।

9. जवाहर लाल नेहरू का दिमाग बहुत से बहुत तेज और चतुर थे। वे जल्दी ही देश और दुनिया की स्थिति को समझ गए थे। उन्होने अपने विचारों से काफी लोग प्रभावित किया था।

10. जवाहर लाल नेहरू ने गो हत्या विवाद में संसद में कहा था कि अगर गो हत्या का प्रस्ताव परित होता है तो मैं अपने पद से इस्तीफा दे दूंगा।

Loading...
Share it
Top