Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

8 करोड़ रु. कालाधन 400 खातों में जमा करा दिए, जानें पूरा सच

कॉलेज मालिक ने 8 करोड़ का कालाधन अपने 400 कर्मचारियों के खातों में बांटकर जमा करवा दिया।

8 करोड़ रु. कालाधन 400 खातों में जमा करा दिए, जानें पूरा सच
चेन्नई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 500 और 1000 रुपए के नोटों को कागज के टुकड़े में बदलने के ऐलान के बाद से लोग परेशान हैं। बैंकों में 500, 1000 के नोट बदलने और एटीएम से 2000 रुपए निकालने के लिए लंबी लाइन लगी हुई है। नोटबंदी के ऐलान किए जाने के बाद काला धन रखने वाले लोगों में हड़कंप मची हुई है। इस बीच एक ऐसी भी खबर आई है कि लोग अपने कालेधन को ठिकाने लगाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। सरकार के द्वारा लिए गए इस फैसले को दरकिनार करते हुए लोग अजीब-अजीब तरीके अपना रहे हैं।
400 खातों में जमा कराए 500/1000 के पुराने नोट
कालाधन छुपाने और नए नोटों से बदलने के लिए तमाम पैसे वाले अलग अलग तिकड़म लगा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया चेन्नई के एक कॉलेज का। यहां कॉलेज मालिक ने 8 करोड़ का कालाधन अपने 400 कर्मचारियों के खातों में बांटकर जमा करवा दिया। इसका खुलासा वहीं के एक कर्मचारी ने आयकर विभाग को शिकायत कर किया।
कॉलेज के कर्मचारियों के खाते में राशि जमा
खबरों के मुताबिक, आयकर विभाग ने जब इस कॉलेज में छापा मारा तो और कर्मचारियों के खातों की जांच की तो इस बड़े कारनामे का खुलासा हुआ। आयकर अधिकारी ने मीडिया को बताया कि जब कॉलेज के एक कर्मचारी की सूचना पर ही हमने जांच शुरू की तो पाया कि कॉलेज के सैकड़ों कर्मचारियों के खाते में अचानक अधिक राशि जमा हो गई। जांच के बाद पाया गया कि कॉलेज ओनर ने 8 करोड़ की नकदी इन कर्मचारियों के खाते में जमा करवा दी। ये खाते कॉलेज के ही कर्मचारियों के थे।
कमीशन का लालच देकर जमा कराए पैसे
अधिकारी ने बताया कि कुछ दिन पहले उन्हें कॉलेज के ही कुछ कर्मचारियों से इसकी सूचना मिली कि कॉलेज का मालिक उनके खातों में पैसा जमा कर रहा है। इसी आधार पर उन्होंने जांच किया तो इसका खुलासा हुआ। पता चला कि जब वह कॉलेज के खातों में अपनी काली कमाई को जमा नहीं करा सकता तो उसने कर्मचारियो के खातों में डलवाना शुरू कर दिया। कॉलेज ओनर ने कर्मचारियों को कमीशन का लालच देकर उनके खातों में 8 करोड़ रुपये के पुराने नोट जमा करवा दिए।
कर्मचारियों को प्रलोभन
कर्मचारियों को प्रलोभन दिया गया था कि उन्हें कुछ कमीशन दिया जाएगा और कुछ दिनों बाद ये पैसे उनके खाते से वापस ले लिये जाएंगे। गौरतलब हो कि तमिलनाडु के कॉलेज पेड सीट के कारण काफी पैसे पर छात्रों का एडमिशन लेते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top