Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केमिकल अटैक:सीरिया में 500 लोगों की जान को खतरा, WHO ने सीरिया जाने की अनुमति मांगी

पिछले सप्ताह डौमा में हुए केमिकल अटैक में कम से कम 70 लोग मारे गए थे। इसके बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सीरिया जाने देने की अनुमति भी मांगी है ताकि हालात का जायजा लिया जा सके।

केमिकल अटैक:सीरिया में 500 लोगों की जान को खतरा, WHO ने सीरिया जाने की अनुमति मांगी
X

सीरिया के पूर्वी गोता में विद्रोहियों के आखिरी ठिकाने डौमा शहर में किए गए केमिकल अटैक से करीब 500 लोग प्रभावित हुए हैं। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने कहा कि 500 से अधिक लोगों में केमिकल अटैक का असर होने के लक्षण पाए गए हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सीरिया जाने देने की अनुमति भी मांगी है ताकि हालात का जायजा लिया जा सके। पिछले सप्ताह डौमा में हुए केमिकल अटैक में कम से कम 70 लोग मारे गए थे।

वॉशिंगटन पोस्ट ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि इस अटैक में नर्व गैस का इस्तेमाल किया गया था, जिससे लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया और उनके मुंह से झाग निकलने लगा।

इसे भी पढ़ें- Facebook डाटा लीक केस: कांग्रेस के सामने पेश हुए जुकरबर्ग, सीनेट ने पूछे तीखे सवाल, देखें वीडियो

जब हमला हुआ लोग बेतहाशा भागने लगे

एक मेडिकल वर्कर मोहम्मद मरहूम ने वॉशिंगटन पोस्ट से बताया, यह हमला जब हुआ, उस वक्त लोग बेतहाशा भागने लगे। उनके मुंह से झाग निकल रहे थे और शहर में जो भी क्लीनिक खुले थे लोग आनन-फानन में वहां पहुंचे।

अस्पताल के स्टाफ को तुरंत यह पता चल गया था कि यह कुछ अलग हुआ। पीड़ितों को क्लोरीन की तेज गंध महसूस हुई, लेकिन इस बार पहले के मुकाबले कहीं ज्यादा लोग गैस अटैक से प्रभावित हुए थे।

इसे भी पढ़ें- हैवानियत! पाकिस्तान में 8 साल की बच्ची को दुष्कर्म के बाद जलाया

यह गैस क्लोरीन गैस के कहीं ज्यादा ताकतवर

मरहूम ने कहा कि मुझे और अन्य मेडिकल वर्कर्स को यह संदेह हुआ कि लोगों को मारने वाली यह गैस क्लोरीन से कहीं ज्यादा ताकतवर है। उन्होंने कहा, हमें लगता है कि इस अटैक में क्लोरीन के अलावा किसी और गैस का भी इस्तेमाल किया गया था।

मरहूम ने 2 साल के दो मासूम बच्चों की दम घुटने से मौत होने की घटना बयां करते हुए कहा, उनके शव ठंडे और अकड़े हुए पड़े थे। उनके मुंह से झांग निकल रहा था। उनके शरीर पर कोई जख्म नहीं थे, निश्चित तौर पर दम घुटने के चलते उनकी मौत हुई थी।

सीरिया सरकार ने खारिज की केमिकल अटैक की बात

भले ही सरकार विरोधी सीरिया की बशर अल असद सरकार पर इस हमले का आरोप लगा रहे हैं, लेकिन उसने इससे इनकार किया है।

सीरिया की सरकारी न्यूज एजेंसी सना ने कहा, सीरियाई अरब सेना को किसी रासायनिक चीज का इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं है, जैसा कि आतंकवादियों के मीडिया सहयोगियों द्वारा दावा किया गया है।

हमलों पर प्रतिक्रिया में अमेरिकी विदेश विभाग के एक अधिकारी ने कहा, हमने कई परेशान कर देने वाली रिपोर्ट देखीं। सीरियाई सरकार का अपने लोगों के खिलाफ रासायनिक हथियारों को इस्तेमाल करने का इतिहास रहा है। सरीन नर्व एजेंट का इस्तेमाल सीरिया में पहले भी हो चुका है।

इनपुट- भाषा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story