Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कासगंज हिंसा: मृत युवक के परिजनों ने की सीएम योगी से मांग, मिले शहीद का दर्जा

उत्तर प्रदेश के कासगंज में होने वाले दंगों मे तीसरे दिन भी बवाल जारी रहा। हालांकि बाद में इस पर काबू पा लिया गया। प्रशासन ने उपद्रवियों पर नजर रखने के लिए ड्रोन की मदद ली है।

कासगंज हिंसा: मृत युवक के परिजनों ने की सीएम योगी से मांग, मिले शहीद का दर्जा

उत्तर प्रदेश के कासगंज में होने वाले दंगों मे तीसरे दिन भी बवाल जारी रहा। हालांकि बाद में इस पर काबू पा लिया गया। प्रशासन ने उपद्रवियों पर नजर रखने के लिए ड्रोन की मदद ली है।

खासकर संदिग्ध उपद्रवी के खिलाफ तालाशी अभियान चलाई जा रही है। तालाशी अभियान की वजह से संदिग्ध उपद्रवी के घर से क्रूड बम और एक पिस्टल पाया गया।

इसे भी पढ़ें : गुजरात स्थित फार्मा कंपनी के निदेशक गिरफ्तार, ईडी की हिरासत में भेजे गए

योगी के खिलाफ हुआ प्रदर्शन

इस सांप्रदायिक दंगो के बीच बली चढ़े चंदन गुप्ता के परिवार वालों ने सीएम योगी के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। लेकिन इससे पहले मृतक के परिवार वालों ने सीएम योगी के समक्ष गुहार लगाई थी कि उसको शहीद करार दिया जाए।

वहीं यूपी के डीजीपी ने कहा कि कासगंज के हालात नियंत्रण में है, लेकिन छिटपुट आगजनी की खबरें हो रही हैं वो सुनसान जगहों पर हुई है ऐसी जगहों पर हुई जो सालों से सुनसान पड़ी थीं। ड्रोन से इलाके की निगरानी की जा रही है।

इसे भी पढ़ें : पीएम मोदी ने अपने मिशन के लिए मांगा NCC कैडेट्स का साथ, 70 साल का हुआ एनसीसी

60 से अधिक उपद्रवियों को लिया हिरासत में

यूपी पुलिस ने बताया कि 60 से अधिक उपद्रवियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके अलावा संदिग्ध लोगों को भी पकड़ा जा चुका है। दो गुटों के लोगों को साथ में बैठाकर शांति की अपील की जाएगी। सबसे पहले स्थिति को काबू करने में ध्यान लगाया जाएगा बाद में इस दंगे के पीछे के गुनाहगारों या वजहों पर ध्यान दिया जाएगा।

हिंसा के पीछे राजनीतिक साजिश का अनुमान

मीडिया से बात करते हुए कासगंज हिंसा पर SP सुनील सिंह ने हिंसा की वारदातों के पीछे राजनीतिक साजिश की आशंका जाहिर की है। उन्होंने इस मामले में किसी भी राजनीतिक साजिश होने से इंकार नहीं किया है।

इसे भी पढ़ें : हैदराबाद: अस्पताल ने एक सर्जरी के लिए परिवार को थमाया 7 लाख का बिल, जानें पूरा मामला

तिरंगा यात्रा के दौरान हुई थी हिंसक झड़प

गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा यात्रा निकाल रहे लोगों ने एक खास जगह पहुंचकर कुछ भड़काऊ नारेबाजी की, जिसके चलते झगड़ा शुरू हुआ और हिंसा भड़क उठी।

Share it
Top