Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अलगाववादियों को लगा एक और झटका, जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट को सरकार ने किया बैन

आतंकवाद और अलगाव वाद के खिलाफ कदम उठाते हुए केंद्र सरकार ने अलगाववादी नेता यासीन मलिक के नेतृत्व वाली जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट को प्रतिबंधित कर दिया है। कैबिनेट की सुरक्षा समिति की बैठक में ये फैसला किया गया है।

अलगाववादियों को लगा एक और झटका, जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट को सरकार ने किया बैन
आतंकवाद और अलगाव वाद के खिलाफ कदम उठाते हुए केंद्र सरकार ने अलगाववादी नेता यासीन मलिक के नेतृत्व वाली जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट को प्रतिबंधित कर दिया है। कैबिनेट की सुरक्षा समिति की बैठक में ये फैसला किया गया है। सरकार ने आतंकवाद विरोधी कानून के तहत यह कार्रवाई की है।
यासीन मलिक पर आरोप है कि वह 1994 से भारत विरोधी गतिविधियों में सक्रिय है। वह भारत के पासपोर्ट पर पाकिस्तान जाता है और वहां देश विरोधी बातें और गतिविधियां करता है। इससे पहले नरेंद्र मोदी सरकार ने जमात ए इस्लामी संगठन पर भी प्रतिबंध लगाया था।

तिरंगे का विरोध

यासीन मलिक उन अलगाववादी नेताओं में हैं जो घाटी में भारत विरोधी गतिविधियों को हवा देते हैं और युवाओं को भड़काते हैं। वह घाटी में तिरंगे के खिलाफ अभियान चलाते हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि यासीन मलिक जैसे नेताओं पर बहुत पहले प्रतिबंध लगाना चाहिए था लेकिन नहीं लगाया गया।
Share it
Top