Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जानें आरुषि-हेमराज हत्याकांड से जुड़ी 9 वजह, कैसे सीबीआई ने तलवार दंपत्ति को बनाया आरोपी

आरुषि और हेमराज हत्या कांड में सीबीआई की दूसरी टीम तलवार दंपत्ति को पसंद नहीं करती थी।

जानें आरुषि-हेमराज हत्याकांड से जुड़ी 9 वजह, कैसे सीबीआई ने तलवार दंपत्ति को बनाया आरोपी

आरुषि और हेमराज हत्या कांड में मर्डर केस के लिए आजीवन कारावास की सजा काट रहे राजेश और नूपुर तलवार की अपील पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बरी कर दिया।

कोर्ट ने सीबीआई जांच के दौरान सबूतों के अभाव में उन्हें बरी कर दिया है। जानें इस केस से जुड़ी 9 वजह...

इसे भी पढें: आरुषि-हेमराज हत्याकांड: दोपहर बाद जेल से रिहा होंगे तलवार दंपत्ति

* आरुषि और हेमराज हत्या कांड में सीबीआई की दूसरी टीम तलवार दंपत्ति को पसंद नहीं करती थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, एजीएल कौल नुपूर तलवार को पसंद नहीं करते थे।

* आरुषि और हेमराज हत्या कांड में नुपुर और उनके पिता की कौल के साथ कई बार कहासुनी भी हुई। जिसके बाद कौल ने सीबीआई की पहली टीम की सारी थ्योरी बदल दी।

* आरुषि पर लिखी किताब के मुताबिक, ऑफिसर दहिया ने आरुषि केस की पहली थ्योरी भी बदल कर रख दिया और दहिया केस में दोबारा से सेक्स एंगल ले आए थे।

* आरुषि और हेमराज हत्याकांड में सीबीआई ने कभी भी हेमराज के मोबाइल की जांच नहीं की। हेमराज का फोन किसने उठाया। वह पंजाब कैसे पहुंचा। इस मामले को नहीं उठाया गया।।

* हत्याकांड मामले में नौकरों पर किए गए टेस्ट के नतीजों से साफ जाहिर है कि वह घटना में शामील थे। लेकिन सीबीआई की दूसरी टीम ने नौकरों से खास पूछताछ नहीं की थी।

* डॉक्टर की रिपोर्ट के मुताबिक, आरुषि के प्राइवेट पार्ट में कुछ भी असामान्य नहीं मिला। लेकिन जांच कौल के हाथों में जाते ही दोनों के बयान बदलने लगे। जिसमें सेक्स एंगल को भी निकाला गया।

इसे भी पढें: गुजरात चुनाव: आज गुजरात पहुंचेंगे पीएम मोदी, बीजेपी कार्यकर्ताओं को देंगे ये मैसेज

* मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आरुषि की लाश का पोस्टमॉर्टम करने से पहले डॉक्टर ने कभी किसी महिला के शरीर का पोस्टमार्टम नहीं किया था। जिससे पता चला है कि इस केस को कैसे बदला गया।

* आरुषि के कमरे से हेमराज का खून, डीएनए या वीर्य या किसी भी तरह का कोई जैविक पदार्थ नहीं मिला था। ऐसे में हेमराज और आरुषि के संबंध को लेकर कैसे एक एंगल निकाला गया।

* आरुषि और हेमराज हत्याकांड में सीबीआई ने अवैध तरीके से एक जीमेल आईडी बनाई थी।

Next Story
Share it
Top