Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नोटबंदी का फैसला बिना सोचे समझे लिया गयाः कोलकाता हाईकोर्ट

कोर्ट नहीं बदल सकता सरकार की यह पॉलिसी

नोटबंदी का फैसला बिना सोचे समझे लिया गयाः कोलकाता हाईकोर्ट
कोलकाता. नोटबंदी पर दायर एक पीआइएल पर सुनवाई करते हुए कोलकाता हाईकोर्ट ने सख्त टिप्पणी की है। कोर्ट ने सरकार के इस फैसले को बिना सोचा समझा फैसला करार दिया है। कोर्ट ने कहा, “केंद्र ने सही तरीके से सोच विचार कर ये फैसला नहीं लिया है।”
कोलकाता हाईकोर्ट ने कहा है वह सरकार की पॉलिसी को नहीं बदल सकते, लेकिन बैंक कर्मचारियों द्वारा की जा रही लापरवाही को स्वीकारा है। हाईकोर्ट ने कहा कि केन्द्र सरकार ने इस फैसले को लागू करने से पहले सही से योजना नहीं बनाई। केन्द्र सरकार रोज अपनी प्रक्रिया में बदलाव कर रही है, इसका मतलब है कि उन्होंने पहले इस पर सही से प्लान नहीं बनाया।
हाईकोर्ट ने जनता को आसानी से पैसा मुहैया नहीं कराने के लिए बैंक कर्मचारियों की भी आलोचना की है। हाईकोर्ट ने कहा, “मैं सरकार के फैसले को बदल नहीं सकता, लेकिन बैंक कर्मचारियों की प्रतिबद्धता होनी चाहिए।” इन दिनों बैंक में लगने वाली कतारों को कम करने के उद्देश्य से लोगों की उंगली पर स्याही लगाने का आदेश दिया गया है, लेकिन देखा जा रहा है कि बैंकों में आने वाले लोगों की किसी भी उंगली पर स्याही लगा दी जा रही है
नोटबंदी पर पीआइएल की सुनवाई करते हुए बेंच की अध्यक्षता कर रहे जस्टिस ने कहा, “लोग पैसा निकाले के लिए लंबी-लंबी कतारों में खड़े हैं और अस्पताल में इलाज नहीं मिल रहा है। इस फैसले ने सब की जिदगी बदलकर रख दी है, जो सही नहीं है।”
जस्टिस ने कहा कि उनका बेटा बीमार है और उसे डेंग्यू है, लेकिन अस्पताल कैश में पैसा नहीं ले रहा है। हालांकि, कोर्ट ने इस अर्जी पर कोई फैसला नहीं सुनाया। इस पर अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top