Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बजट 2018ः मिडिल क्लास को झटका, इनकम टैक्स स्लैब में बदलाव नहीं- जेटली ने की ये 17 बड़ी घोषणा

वित्त मंत्री अरूण जेटली ने इस साल के बजट में आयकर को लेकर किसी भी प्रकार की रियायत नहीं दी है। इससे निश्चित ही मध्यम वर्ग की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

बजट 2018ः मिडिल क्लास को  झटका, इनकम टैक्स स्लैब में बदलाव नहीं- जेटली ने की ये 17 बड़ी घोषणा

अरूण जेटली ने अपने बजट भाषण में कहा कि 2014 में जबसे हमारी सरकार ने सत्ता संभाली है। तब से भारतीय अर्थव्यवस्था में आमूलचूम परिवर्तन हो रहे हैं। और भारत अब दुनिया में सातवीं बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है।

उन्होंने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था 8 प्रतिशत के करीब है। 2018-19 में अर्थव्यवस्था 7.2 से 7.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है। साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा जीएसटी लागू करने से अप्रत्यक्ष कर प्रणाली आसान हुई है।

लेकिन सरकार ने इनकम टैक्स स्लैब में किसी भी प्रकार का परिवर्तन नहीं किया है। टैक्स छूट सीमा 2.5 लाख रुपए ही होगी। जबकि टैक्स बचाने की सीमा 1.50 लाख रुपए की जायेगी। विशेषज्ञों का मानना है कि मध्यम वर्ग और सर्विस क्लास को कोई राहत न देकर सरकार ने बड़ा राजनीतिक जोखिम लिया है।

क्या है मौजूदा टैक्स स्लैब

0-2.5 लाख रुपए की आय तक कोई टैक्स नहीं।

2.5-5 लाख रुपए तक 5% टैक्स देना होता है।

5-10 लाख रुपए तक 20% टैक्स चुकाना होता है।

10 लाख रुपए से ऊपर 30% टैक्स

50 लाख से 1 करोड़ तक 10% सरचार्ज लगता है। और

1 करोड़ से ऊपर 15% सरचार्ज

वित्त मंत्री जेटली ने अपने भाषण में ये बड़ी घोषणायें की-
1. इनकम टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं: जेटली।
2. 250 करोड़ की कंपनियां 25 फीसदी टैक्स दायरे में।
3. 100 करोड़ टर्नओवर वाली कृषि कंपनियों पर टैक्स।
4. नोटबंदी से 1000 करोड़ का टैक्स आया।
5. टैक्स देने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।
6. इनकम टैक्स से 90000 करोड़ की कमाई हुई।
7. डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन से 12.6 फीसदी कलेक्शन बढ़ा।
8. टैक्स देने वालों की संख्या 20 लाख के पास पहुंची।
9. कालेधन के खिलाफ लड़ाई का देश को फायदा हुआ।
10. स्टैंडर्ड डिडेक्शन की फिर से शुरुआत होगी।
11. 40 हजार रुपए तक स्टैंडर्ड डिडेक्शन मिलेगा।
12.डिपॉजिट पर छूट 10 से बढ़ाकर 50 हजार रुपए हुई।
13. वरिष्ठ नागरिकों को डिपॉजिट पर राहत दी जाएगी।
14. बुजुर्गों के लिए FD, RD पर ब्याज टैक्स फ्री।
15. 31 जनवरी 2018 के बाद खरीदे शेयरों पर 10 फीसदी टैक्स।
16. 250 करोड़ टर्नओवर वाली कंपनी को अब कम टैक्स देना होगा।
17. 250 करोड़ रुपए तक टर्नओवर वाली कंपनियों को 25 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स देना है. पहले यह राहत 50 करोड़ रुपए तक टर्नओवर वाली कंपनियों को ही थी।
Share it
Top