Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शेयर बाजार में 510 अंको की भारी गिरावट, सबसे ज्यादा लुढ़के ये शेयर, जानें वजह

बंबई शेयर बाजार (बीएसई) के सेंसेक्स में शुक्रवार को बिकवाली दबाव से पिछले एक माह की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई। बीएसई सेंसेक्स करीब 510 अंक गिरकर 33,176 अंक पर बंद हुआ।

शेयर बाजार में 510 अंको की भारी गिरावट, सबसे ज्यादा लुढ़के ये शेयर, जानें वजह
X

बंबई शेयर बाजार (बीएसई) के सेंसेक्स में शुक्रवार को बिकवाली दबाव से पिछले एक माह की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई। बीएसई सेंसेक्स करीब 510 अंक गिरकर 33,176 अंक पर बंद हुआ।

अमेरिका द्वारा इस्पात और एल्युमीनियम पर भारी आयात शुल्क लगाए जाने के बाद दुनिया के देशों के बीच व्यापार युद्ध छिड़ने की आशंका और घरेलू मोर्चे पर तेलुगू देशम पार्टी के केन्द्र सरकार के गठबंधन से बाहर निकलने से राजनीतिक चिंता बढ़ी है। पार्टी ने सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव भी पेश किया है।

बिकवाली ने पकड़ा जोर

वैश्विक व्यापार युद्ध की आशंका में अन्य एशियाई बाजारों में भी गिरावट का रुख रहा। इसका घरेलू बाजार पर असर रहा जिससे बिकवाली ने जोर पकड़ लिया। शेयर ब्रोकरों ने बताया कि केन्द्र के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन( राजग) से तेलुगू देशम पार्टी( टीडीपी) के नाता तोड़ने से राजनीतिक घटनाक्रम को लेकर बाजार में चिंता रही जिससे बिकवाली ने जोर पकड़ लिया।

यह भी पढ़ें- यूपी में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, गोरखपुर के डीएम रौतेला समेत 37 IAS अफसरों का तबादला

छह फरवरी के बाद बड़ी गिरावट

पार्टी ने सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव भी पेश किया है। हालांकि, लोकसभा में हंगामे के चलते प्रस्ताव को नोटिस में नहीं लिया जा सका। बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स कारोबार की समाप्ति पर 509.54 अंक यानी 1.51 प्रतिशत गिरकर 33,176 अंक पर बंद हुआ। गत छह फरवरी के बाद यह बाजार में एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट आई है।

बैंकिंग शेयरों में भारी नुकसान

इस दौरान धातु, तेल एवं गैस, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, बिजली, आटो और बैंकिंग शेयरों में भारी नुकसान देखा गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 165 अंक यानी 1.59 प्रतिशत गिरकर 10,195.15 अंक पर बंद हुआ।

टाटा मोटर्स में बड़ी गिरावट

सेंसेक्स में शामिल शेयरों में से टाटा मोटर्स का शेयर सबसे ज्यादा 3.67 प्रतिशत गिरा। इसके बाद एशियन पेंट्स का शेयर 3.09 प्रतिशत नीचे आ गया। हीरो मोटा कार्प, एनटीपीसी, सन फार्मा, कोटक बैंक, ओएनजीसी, एचडीएफसी लिमिटेड, एल एण्ड टी, डा. रेड्डी, आईटीसी लिमिटेड, स्टेट बैंक, टाटा स्टील, मारुति सुजूकी, टीसीएस, बजाजा आटो, रिलायंस इंडस्ट्रीज सहित कई प्रमुख शेयरों में 2.89 प्रतिशत तक गिरावट रही।

यह भी पढ़ें- नोटबंदी के बाद केन्द्र सरकार का बड़ा फैसला, इन पांच शहरों में चलेंगे 10 रुपए के प्लास्टिक नोट

महिंद्रा और विप्रो में रही तेजी

हालांकि, कुछ शेयर ऐसे भी रहे जिन्होंने गिरावट के रूझान से हटकर बढ़त हासिल की। इनमें महिन्द्रा एण्ड महिन्द्र, विप्रो, हिन्दुस्तान यूनिलीवर और यस बैंक प्रमुख रहे। इनमें 0.88 प्रतिशत तक वृद्धि दर्ज की गई।

निवेशकों को 1.86 लाख करोड़ रु. की चपत

बंबई शेयर बाजार( बीएसई) के बेंचमार्क सेंसेक्स में गिरावट से निवेशकों की बाजार हैसियत को 1.86 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। शेयर कारोबार में भारी बिकवाली से बंबई शेयर बाजार में सूचीबद्ध कंपनियों का शेयर बाजार मूल्यांकन 1,86,415.38 करोड़ रुपए घटकर 1,43,17,308 करोड़ रुपए रह गया।

(भाषा- इनपुट)

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story