Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

BRICS के बैंक में 18 अरब डॉलर का योगदान करेगा भारत

यह कोष ''बीमा साधन'' के तौर पर होगा जिससे सदस्य देश उनके भुगतान संतुलन में समस्या की स्थिति में इससे धन निकाल सकेंगे

BRICS के बैंक में 18 अरब डॉलर का योगदान करेगा भारत

मास्को.ब्रिक्स के विदेशी मुद्रा भंडार में भारत 18 अरब डॉलर का योगदान करेगा। गौरतलब है कि इस मुद्रा कोष की स्थापना ब्रिक्स समूह के पांच देशों ने की है ताकि डॉलर प्रवाह में किसी तरह की समस्या की स्थिति में एक दूसरे की सहायता कर सकें। चीन, रूस, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका ने 100 अरब डॉलर के कोष की स्थापना पर समझौता किया है। जानकारी के मुताबिक इस सर्वाधिक योगदान 41 अरब डॉलर चीन करेगा।

ये भी पढ़ें :ग्रीस और चीन संकट ने भारतीय शेयर मार्केट में मचाई हलचल, भारी गिरावट में बंद

जानकारी के मुताबिक भारत सरकार, ब्राजील और रूस इस कोष में 18-18 अरब डॉलर का योगदान करेगा। जबकि दक्षिण अफ्रीका पांच अरब डॉलर का योगदान करेगा। रूसी केंद्रीय बैंक ने एक बयान में कहा 'ब्राजील, रुस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के केंद्रीय बैंकों ने सात जुलाई 2015 को मास्को में परिचालन समझौते पर हस्ताक्षर किये। इसमें पारंपरिक मुद्रा भंडार के ब्रिक्स कोष पर समझौते के ढांचे में सदस्य देशों के बीच आपसी समर्थन की शर्तों का जिक्र किया गया है।'
यह कोष 'बीमा साधन' के तौर पर होगा जिससे सदस्य देश उनके भुगतान संतुलन में समस्या की स्थिति में इससे धन निकाल सकेंगे। ब्रिक्स विदेशी मुद्रा भंडार कोष 30 जुलाई से परिचालन में आएगा। परिचालन समझौते में कोष की कार्य प्रक्रिया का ब्योरा है जिस पर ब्रिक्स केंद्रीय बैंक निगरानी करेगा और इसमें उनके अधिकारों और उत्तरदायित्व को परिभाषित किया गया है। गौरतलब है कि ब्रिक्स कोष की स्थापना के समझौते पर 15 जुलाई 2014 को ब्राजील के फोर्तालीजा में हस्ताक्षर किये गये थे।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकरी-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top