Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बोफोर्स केस: 8 मई तक टली सुनवाई, दस्तावेजों की अनुपलब्धता के कारण कोर्ट ने लिया फैसला

कोर्ट ने बोफोर्स मामले की सुनवाई 8 मई 2019 तक के लिए स्थगित कर दिया है। मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट (सीएमएम) अशू गर्ग ने इस मामले में दस्तावेजों की अनुपलब्धता के कारण सुनवाई को स्थगित किया है।

बोफोर्स केस: 8 मई तक टली सुनवाई, दस्तावेजों की अनुपलब्धता के कारण कोर्ट ने लिया फैसला

कोर्ट ने बोफोर्स मामले की सुनवाई 8 मई 2019 तक के लिए स्थगित कर दिया है। मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट (सीएमएम) अशू गर्ग ने इस मामले में दस्तावेजों की अनुपलब्धता के कारण सुनवाई को स्थगित किया है।

बोफोर्स मामले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता और वरिष्ठ वकील अजय अग्रवाल ने 31 मई 2005 को दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले को चुनौती दी थी।

क्या है बोफोर्स मामला

आपको बता दें कि साल 1987 में पहलीबार स्वीडन की हथियार कंपनी बोफोर्स द्वारा भारतीय सेना को तोपें सप्लाई करने का सौदा हथियाने के लिए 80 लाख डालर की दलाली चुकाए जाने का मामला सामने आया था।

उस समय केन्द्र में कांग्रेस की सरकार थी और राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे। स्वीडन की रेडियो ने सबसे पहले 1987 में इसका खुलासा किया। इसे ही बोफोर्स घोटाला या बोफोर्स काण्ड के नाम से जाना जाता हैं।

Next Story
Share it
Top