Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कालाधन: HSBC पर कसा शिकंजा, भारत सहित कई देशों ने भेजा समन

भारत के बारे में बैंक ने कहा कि इसी महीने स्विट्जरलैंड में एक सरकारी वकील ने एचएसबीसी स्विस प्राइवेट बैंक के खिलाफ जांच शुरू की है

कालाधन: HSBC पर कसा शिकंजा, भारत सहित कई देशों ने भेजा समन

लंदन.वैश्विक बैंकिंग समूह एचएसबीसी कथित कर चोरी, मनी लांड्रिंग व गैर-कानूनी सीमापारीय बैंकिंग को बढ़ावा देने के मामले में कई देशों की जांच का सामना कर रहा है। उसे भारतीय कर विभाग ने समन किया है।

बैंक ने कहा कि कई अन्य देशों के कर विभागों द्वारा भी उसकी जांच की जा रही है। यह जांच मुख्य रूप से उसकी स्विट्जरलैंड की बैंकिंग इकाई में कथित अनियमितता के लिए हो रही है। एचएसबीसी पर इसके लिये भारी जुर्माना तथा अन्य जब्ती आदि की कार्रवाई हो सकती है।

ब्रिटेन के बैंक ने अलग से कहा कि उसे अमेरिका और अन्य विभागों से भी समन व सूचना के लिए आग्रह मिला है। इसमें एचएसबीसी की भारत में कंपनी के कुछ अमेरिका स्थित ग्राहकों के बारे में सूचनाएं मांगी गई हैं। यह मामला अमेरिका में कथित तौर पर अमेरिकी कर कानून में उल्लंघन का सामना कर रहे कुछ एनआरआई के बारे में है। हाल में एचएसबीसी के स्विस बैंकिंग इकाई में एक लाख खाताधारकों की सूची लीक हुई है, जिसमें 1,195 भारतीयों के नाम हैं। उसके बाद भारत व कई अन्य देशों के अधिकारियों ने जांच शुरू की है जिससे यह पता लगाया जा सके कि क्या इन खातो में कालाधन जमा है।

भारत ने मांगी जानकारी

भारत के बारे में बैंक ने कहा कि इसी महीने स्विट्जरलैंड में एक सरकारी वकील ने एचएसबीसी स्विस प्राइवेट बैंक के खिलाफ जांच शुरू की है और भारतीय कर अधिकारियों ने उसे समन जारी कर भारत में एचएसबीसी कंपनी के बारे में जानकारी मांगी है। एचएसबीसी बैंक समूह के चेयरमैन डगलस फ्लिंट ने कहा कि स्विस बैंक में पुराने समय से अपनाए जा रहे व्यवहार के बारे में हाल के खुलासे से हमें पता चलता है कि अभी कितना कुछ करना बाकी है। पिछले सप्ताह स्विट्जरलैंड की पुलिस ने एचएसबीसी के जिनीवा कार्यालय में छापेमारी की थी। संदिग्ध मनी लांड्रिंग परिचालन के मद्देनजर यह छापेमारी की गई थी।

एचएसबीसी कर रहा सहयोग

एचएसबीसी की आज प्रकाशित रिपोर्ट में इस मामले की ताजा जानकारी दी गई है। इसमें एचएसबीसी ने कहा है कि वह संबंधित अधिकारियों के साथ सहयोग कर रहा है। उसने इसके साथ ही कहा है कि यह संभव है कि कर प्रशासन के अलावा नियामकीय या विधि प्रवर्तन एजेंसियां भी उसके खिलाफ जांच का दायरा बढ़ा सकती हैं।

एचएसबीसी प्रमुख के स्विस खाते में करोड़ों डालर

एचएसबीसी के मुख्य कार्यकारी स्टुअर्ट गलिवर ने स्विस खाते में करोड़ों डालर रखे हैं जिन्होंने संकट ग्रस्त बैंक में सुधार लाने का वायदा किया था। यह बात गार्जियन अखबार में छपी खबर में कही गई। कथित स्विसलीक संबंधी आरोपों की श्रृंखला में यह ताजा आरोप है। गौरतलब है कि इन आरोपों के कारण ब्रिटेन के इस प्रमुख बैंक की प्रतिष्ठा पर आंच आई है और इससे मई में होने वाले आम चुनाव से पहले राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया है। खबर में दावा किया गया है कि एचएसबीसी के प्रमुख कार्यकारी उस स्विस निजी बैंकिंग शाखा के ग्राहक थे जिस पर अमीर ग्राहकों पर कर चोरी में मदद करने का आरोप लगा है। छपी खबर के मुताबिक गलिवर ने पनामा में पंजीकृत एक कंपनी वोर्सेस्टर इक्विटीज इंक के नाम पर खोले एक स्विस खाते में 76 लाख डालर रखे थे। खबर के मुताबिक गलिवर ब्रिटेन में रहते हैं लेकिन कानूनी और कर संबंधी नियमों के लिहाज से वह हांगकांग के अधिवासी हैं और उन्हें इस खाते के लाभार्थी के तौर पर शामिल किया गया था।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, कई देश कर रहे अनेक मामलों की जांच -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top