Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बिस्तरों और तकियों के नीचे छिपा काला धन अब बैंकों में जमा है: नायडू

भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार नोटबंदी की गई कुल नकदी का करीब 99% बैंकिंग प्रणाली में लौट आया है।

बिस्तरों और तकियों के नीचे छिपा काला धन अब बैंकों में जमा है: नायडू

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने काले धन को लेकर एक बड़ा बयान दिया हैं। नायडू ने कहा कि लोगों के बिस्तरों और तकियों में छिपा काला धन वापस बैंकिंग प्रणाली में आ गया है। उन्होंने इसका श्रेय नोटबंदी जैसे कदम को दिया है।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल नवंबर में सरकार ने 500 और 1,000 रुपए के पुराने नोटों को बंद कर दिया था। तब इनका देश की कुल नकदी में करीब 86% हिस्सा था।

इसे भी पढ़ें- शशिकला परिवार के ठिकानों पर IT ने की छापेमारी, 1400 करोड़ की अघोषित आय का हुआ खुलासा

भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार नोटबंदी की गई कुल नकदी का करीब 99% बैंकिंग प्रणाली में लौट आया है।

नायडू ने कहा, भारत में अब बैंकों के पास फिर से पैसा है क्योंकि सारा पैसा उनके पास आ गया है।

कुछ लोगों ने अपने धन को गद्दों और तकियों यहां तक कि बाथरूम में छिपा कर रखा था, अब यह सारा बैंकों में वापस आ गया है।

इसे लेकर कई तरह का वाद-विवाद है, मैं अब उस राजनीतिक बहस में नहीं पड़ना चाहता क्योंकि अब मैं राजनीति में नहीं हूं।

इसे भी पढ़ें- तमिलनाडु में फर्जी कंपनियों के 33 ठिकानों पर छापेमारी, 1430 करोड़ की अघोषित आय का पता चला

वह यहां लघु एवं मझोले उद्योग पर आयोजित एक सम्मेलन में बोल रहे थे। इस सम्मेलन का आयोजन डब्ल्यूएएसएमई ने किया था।

नायडू ने कहा कि वह राजनीति छोड़ चुके हैं लेकिन वह अभी भी सार्वजनिक जीवन में हैं।

उपराष्ट्रपति ने कहा, कुछ लोग इसके मकसद को लेकर सवाल उठा रहे हैं। इस देश के एक आम नागरिक की तरह मैं इसके मकसद को समझता हूं। बैंकों में धन पते के साथ वापस आया है।

उपराष्ट्रपति ने बैंकों से सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग क्षेत्र पर ज्यादा ध्यान देने के लिए जोर दिया क्योंकि यह क्षेत्र सबसे ज्यादा रोजगार पैदा करता है।

Share it
Top