Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

''भाजपा को ''विकास'', ''सुशासन के एजेंडे'' और ''न्यू इंडिया'' की संकल्पना पर फिर मिलेगा जनादेश''

भाजपा ने कांग्रेस समेत विपक्षी दलों पर जातपात, वोटबैंक एवं विभाजनकारी नकारात्मक राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विकास एवं नीति आधारित सुशासन के एजेंडे तथा ''न्यू इंडिया'' की संकल्पना पर 2019 में पार्टी को दोबारा जनादेश मिलेगा।

भाजपा ने कांग्रेस समेत विपक्षी दलों पर जातपात, वोटबैंक एवं विभाजनकारी नकारात्मक राजनीति करने का आरोप लगाते हुए शनिवार को कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विकास एवं नीति आधारित सुशासन के एजेंडे तथा 'न्यू इंडिया' की संकल्पना पर 2019 में उनकी पार्टी को दोबारा जनादेश मिलेगा।

एक कार्यक्रम के परिचर्चा सत्र के दौरान भाजपा महासचिव भपेन्द्र यादव ने कहा कि 2019 का चुनाव हम सकारात्मक विकास के एजेंडे पर लड़ेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्च में हमने जो काम किया है, वह जनता के सामने रखेंगे। जनता निश्चित तौर पर प्रधानमंत्री के विकास और न्यू इंडिया के एजेंडे पर हमें दोबारा जनादेश देगी।

इसे भी पढ़ें- Exit Poll 2018 / सीएम शिवराज ने बुलाई बैठक

भाजपा महसचिव ने जोर दिया कि भाजपा न तो अल्पसंख्यकों की और न ही बहुसंख्यकों की राजनीति करती है। हमारा मंत्र 'सबका साथ, सबका विकास' है। दूसरी ओर कांग्रेस सहित विपक्षी दल नकारात्मक राजनीति कर रहे हैं। आज विपक्ष जातपात, वोटबैंक एवं विभाजनकारी राजनीति में लगी है । भाजपा नेता ने कहा कि महागठबंधन की चर्चा हो रही है।

पिछले चार साल की राजनीति देखें तो पायेंगे कि बिहार में सपा और राजद, मध्यप्रदेश में कांग्रेस और सपा, छत्तीसगढ़ में बसपा और कांग्रेस अलग अलग चुनाव मैदान में थे। पश्चिम बंगाल में भी ऐसी ही स्थिति है। ऐसे में महागठबंधन कहां है।

भाजपा नेता ने दावा किया कि छत्तीसगढ, मध्यप्रदेश और राजस्थान में उनकी पार्टी जीतेगी। सरकार के कामकाज पर विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए भूपेन्द्र ने कहा कि सरकार की नीतियों के कारण कारोबार के अनुकूल माहौल की रैंकिंग में भारत 137वें स्थान से बेहतर होकर 77वें स्थान पर पहुंच गया है।

इसे भी पढ़ें- रॉबर्ट वाड्रा के ठिकानों पर ED की छापेमारी, विदेश में संपत्ति होने के मिले सबूत

भूपेंद्र यादव ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था अब दुनिया में पांचवें पायदान पर पहुंच रही है। उन्होंने कहा कि जब 2014 में हम सत्ता में आए थे तब 43 प्रतिशत कृषि क्षेत्र सिंचिंत था और अब इसमें भारी इजाफा हुआ है। सरकार ने पहले से लंबित अनेकों सिंचाई परियोजनाओं को पूरा किया है।

किसानों की नाराजगी के बारे में एक सवाल के जवाब में भाजपा महासचिव ने कहा कि अगर किसान नाराज होते तब 2014 के बाद से हम उत्तरप्रदेश, हरियाणा समेत अनेक राज्यों में जीत नहीं दर्ज कर पाते। हालांकि सरकार किसानों की समस्याओं को पूरा ध्यान देकर दूर करने का लगातार प्रयास कर रही है।

Share it
Top