Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

केजरीवाल पर भड़की बीजेपी, पूछा- सेना पर यकीन नहीं?

रविशंकर ने कहा कि ''क्या अरविंद केजरीवाल सेना की कार्रवाई पर भरोसा करते हैं।

केजरीवाल पर भड़की बीजेपी, पूछा- सेना पर यकीन नहीं?
नई दिल्ली. पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर पर सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर दिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बयान पर भाजपा ने पलटवार किया है। केंन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि 'क्या अरविंद केजरीवाल सेना की कार्रवाई पर भरोसा करते हैं, अगर हां तो वे पाकिस्तान के झूठे प्रोपेगेंडा पर भरोसा क्यों कर रहे हैं।'
इसके साथ ही उन्होंने केजरीवाल के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा कि सेना की कार्रवाई पर कटाक्ष ठीक नहीं है। केजरीवाल की वजह से पाकिस्तान को बोलने का मौका मिला है।
हालांकि रविशंकर प्रसाद ने इससे पहले यह भी कहा कि 'केजरीवाल जी ने पीएम को सैल्यूट किया, इसके लिए उनका धन्यवाद।' बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान को सबूत दिखाने के लिए कहा था।
बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को एक वीडियो मैसेज जारी करके पीएम की तारीफ की थी। हालांकी, उन्होंने यह भी कहा था कि पाकिस्तान के दुष्प्रचार से बचने के लिए भारत को सबूत सामने रखने चाहिए।
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारत की सुरक्षा को लेकर व्यंग्य भरी बातें नहीं की जानी चाहिए। केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत की बात कर सेना की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए हैं। संकट के समय देश एक स्वर में बोलता है। राजनीति अपनी जगह है। पाकिस्तान की बात पर एक सीएम सबूत मांग रहे हैं। आज केजरीवाल पाकिस्तान के अखबार की हेडलाइन हैं। उनकी बात से पाकिस्तान को भारत पर सवाल उठाने का मौका मिल रहा है।
रविशंकर प्रसाद ने दावा किया कि पाकिस्तान आतंकवाद के मुद्दे पर पूरी दुनिया में अलग-थलग पड़ चुका है, और उरी हमले को लेकर कोई भी देश उसका समर्थन नहीं कर रहा है, और भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक पर भी किसी ने सवाल नहीं किए हैं।
रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी सवाल किया कि पूर्व वित्तमंत्री पी चिदम्बरम ने सर्जिकल स्ट्राइक पर जो प्रश्नचिह्न लगाया है, क्या वही कांग्रेस का आधिकारिक रुख है। उन्होंने कहा कि इससे पहले कांग्रेस में सिर्फ दिग्विजय सिंह ही ऐसे नेता थे, जिनके बयानों को वह कभी गंभीरता से नहीं लेते थे, लेकिन अब पी चिदम्बरम भी उन्हीं जैसे नेताओं में शुमार हो गए हैं।
साभार- एनबीटी
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top