Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राजकुमारी दीया कुमारी ने 21 साल पहले जब लड़कर की शादी, अब ले रही हैं तलाक, जानिए पूरी लव स्टोरी

जयपुर के राजपरिवार की राजकुमारी दीया कुमारी (Diya kumari) ने अपने पति से तलाक लेने का फैसला किया है। उन्होंने गांधीनगर फैमिली कोर्ट में इसके लिए अर्जी दाखिल की है। दीया और उनके पति नरेंद्र (Narendra Singh) ने संयुक्त रूप से यह फैसला लिया है। कोर्ट ने 6 महीने बाद की तारीख दी थी लेकिन दोनों ने कोर्ट को जल्द से जल्द सुनवाई करने के लिए आवेदन दिया है।

राजकुमारी दीया कुमारी ने 21 साल पहले जब लड़कर की शादी, अब ले रही हैं तलाक, जानिए पूरी लव स्टोरी
जयपुर के राजपरिवार की राजकुमारी दीया कुमारी (Diya kumari) ने अपने पति से तलाक लेने का फैसला किया है। उन्होंने गांधीनगर फैमिली कोर्ट में इसके लिए अर्जी दाखिल की है। दीया और उनके पति नरेंद्र (Narendra Singh) ने संयुक्त रूप से यह फैसला लिया है। कोर्ट ने 6 महीने बाद की तारीख दी थी लेकिन दोनों ने कोर्ट को जल्द से जल्द सुनवाई करने के लिए आवेदन दिया है। दोनों ने अपने तलाक (Divorce) के बारे में कुछ भी कहने से मना कर दिया है। अपनी निजी जिंदगी को लेकर दीया कुमारी कोई पहली बार नहीं है जब सुर्खियों में हैं। जब उन्होंने अपने पति से प्रेम विवाह (Love Marriage) किया था तब भी वह खूब चर्चा में आई थीं। आइए जानतें हैं कि 21 साल पहले किस तरह समाज से लड़ झगड़ कर दीया कुमारी ने शादी की थी।
दीया कुमारी (Diya kumari) सवाई माधोपुर से बीजेपी की विधायक हैं। दीया कुमारी ने अगस्त 1997 नरेंद्र सिंह से प्रेम विवाह (Love Marriage) किया था। लेकिन शादी करने से पहले उन्हें काफी विरोध झेलना पड़ा। क्योंकि दोनों एक ही गोत्र के थे। इसे लेकर राजपूत समाज में आक्रोश था। सगोत्रीय शादी को लेकर उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा, लेकिन दोनों अपने निर्णय पर अडिग रहे।
दीया ने अपनी लव स्टोरी (Love Story) के बारे में एक ब्लॉग में बताया था। जिसमें उन्होंने अपने पति के साथ अपने प्रेम संबंध के बारे में बताया था। कि कैसे उनकी मुलाकात हुई। उन्होंने अपने ब्लॉग में लिखा कि जब वह नरेंद्र से मिली थीं तो वह 18 साल की थीं।
उन्होंने लिखा कि जब 1989 में नरेंद्र (Narendra) ग्रेजुएशन के बाद चार्टर्ड एकाउंटेंट की तैयारी कर रहे थे। उस दौरान एसएमएस संग्राहलय में उन्होंने एकाउंट सेक्शन में ट्रेनिंग के लिए ज्वाइन किया था। इसी दौरान मेरी उनसे महल में मुलाकात हुई थी। वह किसी काम के लिए आए थे क्योंकि मैं भी अकाउंट में मदद कर रही थी, जिसमें मुझे उनके साथ कुछ अकाउंट्स का हिसाब किताब देखने के लिए बोला गया था। हम लोग काम के साथ बात कर रहे थे और मुझे उनसे बात करके बेहद अच्छा लग रहा था।
नरेंद्र बहुत ही सादे स्वभाव के व्यक्ति थे जो मुझे पसंद था। उनका केयरिंग नेचर मुझे काफी पसंद आता था। जो भारतीय पुरुषों में कम ही देखने को मिलता है। असल में यह लव एट फर्स्ट
साइट नहीं था। उनसे प्यार का अहसास मुझे तीन महीने बाद हुआ। मेरा उनसे हमेशा मिलने का मन किया करता था। वो जब भी जयपुर आते तो हम दोस्तों के यहां मिला करते थे। तब हम
बस अच्छे दोस्त थे।
मुझे नरेंद्र से प्यार है यह तब समझ आया जब मुझे विदेश जाना पड़ा। उस समय मुझे नरेंद्र की याद आती रहती थी। मेरा हर वक्त उनसे मिलने का दिल किया करता था। तभी मुझे यह अहसास हुआ कि मेरी उनके प्रति काफी स्ट्रॉन्ग फीलिंग है।
जब मैंने अपनी मां को नरेंद्र के बारे में बताया तो उन्हें इस बात से गहरा झटका लगा। मेरी मां चाहती थीं कि मैं इस प्रेम से बाहर निकल आऊं। मां को बताने के बाद हमें मिलने में काफी
सतर्क रहना पड़ता था। हम ज्यादातर दिल्ली में मिला करते थे। हमारे प्रेम संबंध के बारे में जब नरेंद्र के घर वालों को पता चला तो उनका भी रिएक्शन मेरी मां की ही तरह था। उन्होंने नरेंद्र से इस बोत को लेकर बहुत झगड़ा किया।
हम दोंने ने शादी करके परिवार से दूर जाने का फैसला किया। लेकिन हम दोनों से यह भी नहीं हो पाया। इसके बाद हम दोनों ने अदालत का सहारा लिया। हमने कोर्ट मैरिज कर ली। इस बात को जब मैंने अपने घर पर बताया तो सभी लोग बहुत गुस्सा हुए।
लेकिन बाद में दोनों परिवार हमारी शादी को लेकर तैयार हो गए। जब परिवार के लोग माने तब समान नहीं माना। राजपूत समाज हमारे विरोध में आ गया। एक ही गौत्र में होने का विरोध किया जाने लगा।
इस विरोध का सामना नरेंद्र के पिता जी को भी झेलना पड़ा। राज परिवार के साथ रिश्ता खत्म करने का ऐलान कर दिया गया। लेकिन बाद में हम दोनों ने दिल्ली में शादी कर ली।
आपको बता दें कि दीया ने अपनी उच्च शिक्षा लंदन से पूरी की है। दीया और नरेंद्र के दो बेटे पद्मनाभ सिंह और लक्ष्यराज सिंह और एक बेटी गौरवी है। दीया वर्तमान में सवाई माधोपुर से भाजपा विधायक हैं।
Share it
Top