Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ताज महल में शिव चालीसा पर सियासत गरमाई, कटियार बोले- इसमें कुछ गलत नहीं

मोहब्बत की निशानी ताज महल को लेकर सियासत और विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।

ताज महल में शिव चालीसा पर सियासत गरमाई, कटियार बोले- इसमें कुछ गलत नहीं

मोहब्बत की निशानी ताज महल में हिंदू संगठन द्वारा शिव चालीसा का पाठ किए जाने के बाद सियासत गरमा गई है। विपक्ष ने जहां उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है, वहीं भाजपा के कुछ नेता शिव चालीसा को तर्क संगत ठहराने में जुट गए हैं।

बता दें कि हिंदू युवा वाहिनी के कुछ कार्यकर्ताओं ने सोमवार को ताजमहल परिसर में शिव चालीसा का पाठ किया था। यह सब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ताज दौरे से पहले होना विवाद का विषय बन गया है। सपा, कांग्रेस और बसपा ने इस घटना को योगी सरकार की ही चाल करार दिया है।

यह भी पढ़ें: विवादित बिल को लेकर चौतरफा आलोचनाओं के बाद बैकफुट पर आई वसुंधरा सरकार

इस बीच, भाजपा नेत विनय कटियार ने विवादित बयान देकर मामला और गरमा दिया है। कटियार ने कहा है कि ताज महल में पूजा करने में कुछ गलत नहीं है। किसी ने अंदर नहीं बाहर ही पूजा की है। ऐसे में वहां कोई हनुमान चालीसा पढ़े या शिव आरती करे, किसी को इसको लेकर दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: ताजमहल के आस-पास की पार्किंग पर चलेगा बुलडोजर, सुप्रीम कोर्ट सख्त

कटियार ने आगे कहा कि ताज महल हमारे राजा-महाराजाओं का महल और मंदिर हुआ करता था, शाहजहां ने उसको कब्रिस्तान में तब्दील कर दिया। मुमताज को भी औरंगाबाद के बाद ताजमहल ने दफनाया गया था।

यह भी पढ़ें: जानिए, हुर्रियत नेताओं, कश्मीरी नौजवानों पर क्या है दिनेश्वर शर्मा की सोच?

उन्होंने कहा कि ताजमहल का पूरा परिसर ही भगवान शिव से ताल्लुक रखता है। इससे पहले यहां मंदिर ही हुआ करता था। दरअसल, यह इमारत तेजो मंदिर ही है। इस सच्चाई को अब लोगों ने समझ लेना चाहिए।

यह भी पढ़ें: बेटी अनीता बोस बोलीं, नेताजी की अस्थियां वापस लाने में किसी सरकार को फायदा नहीं दिखता

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी 26 अक्टूबर को आगरा का दौरा करेंगे। इस दौरान वह आधे घंटे के लिए ताजमहल में भी समय गुजारेंगे। योगी यहां स्वच्छ भारत अभियान को बढ़ावा देने लिए झाड़ू भी लगाते नजर आएंगे।

Share it
Top