Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अमेरिकी सांसद में पास हो गया ये ''बिल'' तो जा सकती है करोड़ो भारतीयों की नौकरी

अमेरिकी संसद कांग्रेस में पेश किए गए एक बिल से भारत में कॉल सेंटर में काम करने वाले करोड़ों लोगों की नौकरी पर खतरा मंडरा गया है।

अमेरिकी सांसद में पास हो गया ये

अमेरिकी संसद कांग्रेस में पेश किए गए एक बिल से भारत में कॉल सेंटर में काम करने वाले करोड़ों लोगों की नौकरी पर खतरा मंडरा गया है। अगर कांग्रेस में यह बिल पास हो जाता है तो फिर इसका असर उन बीपीओ पर सर्वाधिक पड़ेगा, जो अमेरिकन लोगों की भारत में बैठकर सहायता करते हैं।

इस बिल में यह प्रावधान किया गया है कि प्रत्येक कॉल सेंटर कर्मचारी को अपनी लोकेशन के बारे में जानकारी देनी होगी और उसे कस्टमर को यह अधिकार देना होगा कि वो कॉल को अमेरिका में बैठे एजेंट को ट्रांसफर कर सके।

ओहियो के सीनेटर शेरोर्ड ब्राउन द्वारा पेश किए गए इस बिल में उन कंपनियों की भी लिस्ट तैयार करने का भी प्रावधान है जो कॉल सेंटर नौकरियों को ऑउटसोर्स करती हैं तथा उन्होंने इसे अमेरिका के बाहर ट्रांसफर नहीं किया है।

यह भी पढ़ें- अब घर बैठे मिलेगा पेट्रोल-डीजल, इंडियन ऑयल ने इस शहर में शुरू की ये सेवा

अमेरिकी एजेंट से कर सकेंगे कस्टमर बात

अमेरिकी कस्टमर को उन कॉल सेंटर एजेंट से बात कर सकेंगे जो उनके देश में मौजूद होंगे। अभी अमेरिकन जब कॉल सेंटर पर बात करते हैं, तो उनकी कॉल को भारत सहित किसी और देश में ट्रांसफर कर दिया जाता है।

ऐसा इसलिए क्योंकि ज्यादातर अमेरिकी कंपनियों ने अपना बीपीओ बिजनेस ऐसे देशों में स्थापित किया हुआ जहां कॉस्ट काफी कम आती है। ज्यादातर भारतीय बीपीओ कर्मचारी अमेरिकी नामों का प्रयोग करके वहां के कस्टमर से बात करते हैं।

भारत और मेकिस्को में सबसे ज्यादा बिजनेस

ब्राउन ने अपने बिल में कहा है कि ज्यादातर अमेरिकी कंपनियों ने अपने बीपीओ बिजनेस को अमेरिकी शहरों में बंद करके उसे भारत या फिर मेक्सिको में शिफ्ट कर दिया है।

यह भी पढ़ें- पीएनबी घोटाले के बावजूद 2019-20 में सुधरेंगे बैंकों के हालत: S & P रिपोर्ट

अब इस बिल के जरिए अमेरिका बीपीओ बिजनेस को देश में फिर से शुरू करने की कवायद कर रहा है। अगर अमेरिकी संसद में यह बिल पास हो जाता है तो फिर भारत में स्थित उन सभी बीपीओ कंपनियों पर असर पड़ेगा, जो कि अमेरिकावासियों के लिए कॉल सेंटर चलाते हैं।

(भाषा- इनपुट)

Next Story
Top