Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बिहारः लड़के ने शादी से किया इनकार, धरने पर बैठी लड़की

बिहार के चंपारण में एक लड़के ने शादी से इनकार किया तो लड़की उसके घर बारात लेकर पहुंच गई।

बिहारः लड़के ने शादी से किया इनकार, धरने पर बैठी लड़की
पटना. बिहार के चंपारण जिले में एक शादी में बड़ा ही अजीब सा मामला सामने आया है। दूल्हे ने शादी करने से इनकार कर दिया जिसके बाद दूल्हन ने किया कुछ ऐसा जिसके बारे में सोच भी नहीं सकते हैं आप। शादी से इनकार करने वालों ने घर से भागने में ही अपनी भलाई समझी।
दरअसल मामला यह है कि बिहार के चंपारण में एक लड़के ने शादी से इनकार किया तो लड़की उसके घर बारात लेकर पहुंच गई। मामला बेरिया कस्‍बे का है। लड़‍की को परिवार के साथ आता देख लड़के वालों ने घर छोड़ने में ही भलाई समझी। लड़की अपने परिवार वालों के साथ लड़के के घर के बाहर धरने पर बैठ गई।
ऐन मौके पर लड़के वालों ने शादी से इनकार कर दिया
हरसिद्धि थाने के धनखैरटिया गांव के लालबहादुर साहनी की बेटी गीता की शादी पश्चिमी चंपारण के बैरिया थानांतर्गत तिलंगहीं गांव के केदार चौधरी के बेटे दीपक के साथ तय हुई थी। शादी की सारी तैयारियां हो चुकी थीं, मगर ऐन मौके पर लड़के वालों ने शादी से इनकार कर दिया। इससे गीता भड़क गईं और परिवार को साथ लेकर दीपक के घर बारात लेकर पहुंच गई। मगर घर पर दीपक मौजूद नहीं था। गीता अपने परिवार के साथ ही दीपक के घर के बाहर धरने पर बैठ गई।
मजबूरी में शादी करने के लिए तैयार
गीता ने बताया कि उसके भाई की शादी दीपक की बहन से हुई है, जो लुधियाना में रहता था। वहीं से दीपक उसके घर अक्सर फोन किया करता था। गीता के अनुसार, 'वो मुझसे शादी करना चाहता था। मेरी ओर से शादी से इनकार करने पर दीपक आत्महत्या कर लेने की धमकी दिया करता था।' गीता का कहना है कि वह मजबूरी में उससे शादी करने के लिए तैयार हो गई। गीता के मुताबिक दीपक के साथ उसका रिश्‍ता करीब 10 साल पुराना है। गीता के मुताबिक, दीपक ने उसे अपनी पत्‍नी बताकर जीवन बीमा कराया और आधार कार्ड भी बनवा रखा है।
शारीरिक संबंध बनाकर शादी से मुकर जाने का आरोप
गीता ने दीपक पर शारीरिक संबंध बनाकर शादी से मुकर जाने का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि वे दोनों पति-पत्नी की तरह रहा करते थे। दीपक को पति मानकर गीता ने अपने हाथों पर उसके नाम का गोदना भी गुदवा लिया था। लेकिन कुछ दिनों बाद दीपक बदल गया। उसने शादी से इंकार कर दिया। गीता के मुताबिक, मामला पंचायत पहुंचा तो पंचायत ने तय किया कि ‘2 लाख 20 हजार रुपए देकर हम दोनों शादी कर सकते हैं।’ पंचायत ने शादी के लिए 16 नवंबर की तारीख भी तय कर दी थी।
पूरी तैयारी धरी की धरी रह गई
गीता के अनुसार, पंचायत के फैसले के बाद गीता के पिता ने दीपक के पिता को पैसे भी दे दिए। लेकिन उसने पैसा लेने के बाद शादी करने से इनकार कर दिया। लड़की वालों ने शादी की सभी तैयारियां कर ली थीं। अब शादी स्‍थगित होने से पूरी तैयारी धरी की धरी रह गई है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top