Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Big Breaking: मुंबई में रेलवे स्टेशन के सामने फुटओवर ब्रिज गिरा, 5 लोगों की मौत, 36 घायल, सालभर के भीतर दूसरा हादसा

मुंबई CST स्टेशन के सामने एक बड़ा हादसा हुआ है (Mumbai foot Over Bridge Collapse)। सीएसटी स्टेशन के सामने का फुट ओवर ब्रिज गिर गया है। जिसमें कई लोगों के दबे होने की आशंका है। जो ब्रिज गिरा है वह सीएसटी स्टेशन को आजाद मैदान से जोड़ने वाला ब्रिज है।

Big Breaking: मुंबई में रेलवे स्टेशन के सामने फुटओवर ब्रिज गिरा, 5 लोगों की मौत, 36 घायल, सालभर के भीतर दूसरा हादसा

मुंबई CST स्टेशन के सामने एक बड़ा हादसा हुआ है (Mumbai foot Over Bridge Collapse)। सीएसटी स्टेशन के सामने का फुट ओवर ब्रिज गिर गया है। जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई है। और 23 लोग घायल हैं। जो ब्रिज गिरा है वह सीएसटी स्टेशन को आजाद मैदान से जोड़ने वाला ब्रिज है।

हर रोज इस पर हजारों लोग गुजरते हैं। स्थानीय लोगों के मुताबिक जो ब्रिज गिरा है वह बेद पुराना था। जिसके बजाय अब नया ब्रिज बनाना चाहिए था। लेकिन सरकार के लापरवाही के चलते यह हादसा हुआ है।

बताया जा रहा है कि हादसे के वक्‍त ब्रिज पर काफी लोग मौजूद थे। हादसा छत्रपति शिवाजी रेलवे स्‍टेशन (Chhatrapati Shivaji Terminus) के बाहर हुआ है। बताया जा रहा है कि लगभग 23 लोग घायल हुए हैं। 15 लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका। और दो महिलाओं की मौत हो गई है।

मुंबई पुलिस के मुताबिक 'टाइम्‍स ऑफ इंडिया बिल्डिंग के पास सीएसटी के प्‍लेटफॉर्म संख्‍या 1 को बीटी लेन से जोड़ने वाला फुटओवर (Foot Over Bridge Collapse) ढह गया है। घायलों को अस्‍पताल ले जाया जा रहा है।

फिलहाल ट्रैफिक के चलते काफी देर तक एंबुलेंस घटनास्थल तक नहीं पहुंच पा रही थी। इस दुर्घटना को लेकर रेलवे ने कहा है कि ब्रिज की जिम्मेदारी ब्रह्नमुंबई मुनिसिपल कॉर्पोरेशन की है। फिर भी रेलवे राहत कार्य में जुटा है। और रेलवे के डॉक्टर पूरा सहयोग कर रहे हैं।

सरकार ने नहीं सीखा सबक, सालभर के भीतर दूसरा ब्रिज गिरा

देश की आर्थिक राजधानी में किस तरह लापरवाही हो रही है इसका अंदाजा हम इसी से लगा सकते हैं कि यह साल भर में दूसरी ब्रिज गिरने की घटना है। 3 जुलाई 2018 को अंधेरी स्टेशन के करीब एक फुटओवर ब्रिज का हिस्सा गिर गया था।

जिसके चलते वेस्टर्न लाइन पर लोकल ट्रेनों की आवाजाही छप हो गई थी। हादसे में कई लोग जख्मी हुए थे। भारी वजन के चलते पुल गिरने की बात सामने आई थी। हालांकि गोखले ब्रिज के गिरने के बाद भी सरकार ने किसी भी तरह की सतर्कता नहीं बरती और सीएसटी स्टेशन के करीब यह हादसा देखने को मिला। जबकि CST स्टेशन मुंबई का बेहद प्रमुख स्टेशन है। साथ ही यह बेहद पुराना ब्रिज था जो गिरा है।

Loading...
Share it
Top