Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भुवनेश्वरः 2 महीने पहले रद्द हो गई थी हॉस्पिटल की मान्यता

मान्यता रद्द होने के बावजूद अस्पताल को चलाया जा रहा था।

भुवनेश्वरः 2 महीने पहले रद्द हो गई थी हॉस्पिटल की मान्यता
भुवनेश्वर. भुवनेश्वर में सोमवार शाम को सम हॉस्पिटल में आग लगने से 20 लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी और 105 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उस अस्पताल की मान्यता दो महीने पहले ही रद्द हो चुकी थी। जनसत्ता की रिपोर्ट के मुताबिक मान्यता रद्द होने के बावजूद अस्पताल को चलाया जा रहा था। इस मामले में पुलिस ने हॉस्पिटल के सुप्रीटेंडेंट के साथ तीन और लोगों को पकड़ा गया था। जिसमें से एक फायर सेफ्टी ऑफिसर भी है। सब पर गैर इरादतन हत्या के आरोप में मामला दर्ज किया गया है।
हॉस्पिटल के खिलाफ एफआइआर दर्ज
इसके अलावा आग सेवा विभाग की तरफ से भी हॉस्पिटल के खिलाफ एक एफआइआर दर्ज करवाई गई है। उसमें शिकायत की गई है कि 2013 में उन्होंने फायर सेफ्टी ऑडिट के दौरान कुछ सिफारिशें की थी जिन्हें माना नहीं गया। पुलिस ने मंगलवार को हॉस्पिटल के सुप्रीटेंडेंट पुष्पराज सामंत, सेफ्टी ऑफिसर संतोष दास, इलेक्ट्रिकल मेंटेनेंस इंजीनियर अमूल्य साहू और जूनियर इंजीनियर माल्या साहू को गिरफ्तार किया।
दो महीने पहले ही हॉस्पिटल की मान्यता रद्द हो चुकी थी
आपको बता दें कि दो महीने पहले ही हॉस्पिटल की मान्यता रद्द हो चुकी थी। बावजूद इसके हॉस्पिटल चलाया जा रहा था। यह मान्यता अस्पातल और स्वास्थय सेवा प्रदाताओं के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड यानि कि एनएबीएच द्वारा दी जाती है। अस्पताल की मान्यता वहां की गुणवत्ता मानकों की कमी और आग से निपटने के लिए उपायों को लेकर ही रद्द की गई थी। एनएबीएच के सूत्रों ने बताया कि अस्पताल के निरीक्षण के दौरान पता लग गया था कि अस्पताल ने अपना फायर नो ओब्जेक्शन सर्टिफिकेट 2013 से रिन्यू नहीं करवाया था। साथ ही आग से निपटने के लिए वहां मौजूद स्टाफ भी तैयार नहीं था। अस्पताल को उसका पहला एनएबीएच सर्टिफिकेट जून 2013 में मिला था।
आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी
गौरतलब है कि सोमवार को हॉस्पिटल में यह आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी थी। आग लगने से पूरे हॉस्पिटल में अफरा-तफरी का माहौल बन गया था। कुछ मरीजों की मौत दम घुटने के कारण हुई थी। घटना के बाद जिला प्रशासन को जांच के आदेश दिए जा चुके हैं।
पीएम मोदी ने ट्विटर पर पोस्ट कर घटना पर दुख जताया
हाल ही पीएम मोदी ने ट्विटर पर पोस्ट कर घटना पर दुख जताया। उन्होंने लिखा कि हादसे के पीड़ितों के लिए मेरी संवेदनाएं है। मोदी ने आग में घायल हुए सभी लोगों को दिल्ली के एम्स लाने को कहा था। पीएम ने स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा से भी घटना के बारे में बातचीत की थी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top