Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भीमा कोरेगांव कांडः जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद के खिलाफ जारी हुआ सर्च वारंट

महाराष्ट्र पुलिस ने भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा मामले में जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद के खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद गुरुवार को मुम्बई में विले पारले के भाईदास सभागृह में उनके कार्यक्रम को अनुमति नहीं दी और दोनों नेताओं के खिलाफ सर्च वारंट जारी किया।

भीमा कोरेगांव कांडः जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद के खिलाफ जारी हुआ सर्च वारंट

महाराष्ट्र पुलिस ने भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा मामले में जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद के खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद गुरुवार को मुम्बई में विले पारले के भाईदास सभागृह में उनके कार्यक्रम को अनुमति नहीं दी और इन दोनों के खिलाफ सर्च वारंट जारी किया।

दलित नेता प्रकाश अंबेडकर की अगुवाई में कई संगठनों ने राज्य बंद बुलाया, जिससे मुंबई समेत कई इलाकों में हिंसा भी हुई। मुंबई पुलिस ने 25 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर 300 को लोगों को गिरासत में भी लिया है।

इसे भी पढ़ेंः रेलवे हमेशा औपनिवेशिक काल में नहीं रह सकता: गोयल

पुलिस सूत्रों के अनुसार, छात्र भारती (सामाजिक-राजनीतिक गैर सरकारी संगठन) ने अखिल भारतीय राष्ट्रीय छात्र सम्मेलन, 2018 का मीठीबाई कालेज (विले पारले) के सभागृह में आयोजन किया था जिसमें जिग्नेश और उमर शामिल होने वाले थे लेकिन पुलिस ने इस कार्यक्रम को आयोजित करने की अनुमति नहीं दी। पुलिस ने मीठीबाई कॉलेज के आसपास गैर कानूनी ढंग से एकत्र होने वाले लोगों को रोकने के लिए धारा 149 लगा दी।

कार्यक्रम को अनुमति नहीं मिलने के बाद छात्र वहां नारेबाजी करने लगे और धरना दिया। पुलिस ने कई छात्रों को हिरासत में लेकर वहां से हटा दिया। पुणे पुलिस ने मेवानी और खालिद पर हिंसा भड़काने के आरोप लगाते हुए भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए, 505 और 117 के तहत मामला दर्ज किया है।

हिंसा के बाद बंद का आह्वान

गौरतलब है कि हिंसा के बाद बुधवार को दलित संगठनों ने महाराष्ट्र बंद बुलाया था। बुधवार को महाराष्ट्र में कई जगह हिंसा हुई, बसों को जलाया गया, धरना प्रदर्शन भी हुए थे। महाराष्ट्र के साथ ही बुधवार को गुजरात में भी कई जगह ऐसा ही देखने को मिला था।

Share it
Top