Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भीम कोरेगांव हिंसा: तीन आरोपियों की जमानत याचिका पर पुणे कोर्ट का फैसला 28 को

भीम कोरेगांव हिंसा मामले में आरोपी वेरनॉन गोंसाल्वेस, अरुण फेरेरा और सुधा भारद्वाज की जमानत याचिका पर पुणे सत्र न्यायालय 28 अक्टूबर फैसला करेगा।

भीम कोरेगांव हिंसा: तीन आरोपियों की जमानत याचिका पर पुणे कोर्ट का फैसला 28 को
X

भीम कोरेगांव हिंसा मामले में आरोपी वेरनॉन गोंसाल्वेस, अरुण फेरेरा और सुधा भारद्वाज की जमानत याचिका पर पुणे सत्र न्यायालय 28 अक्टूबर फैसला करेगा। वर्तमान में वेरनॉन गोंसाल्वेस, अरुण फेरेरा और सुधा भारद्वाज सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद घर में नजर बंद किये गए हैं।

इससे पहले बंबई हाई कोर्ट ने बुधवार को पुणे की एक अदालत के उस फैसले को खारिज कर दिया जिसमें कोरेगांव भीमा गांव में हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार वकील सुरेंद्र गडलिंग और कुछ अन्य कार्यकर्ताओं के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल करने के लिए पुलिस को अधिक समय दिया गया था।

न्यायमूर्ति मृदुला भाटकर की एकल पीठ ने कहा कि पुणे अदालत ने आरोपपत्र दायर करने के लिए पुलिस को अतिरिक्त 90 दिन देने और इसके फलस्वरूप गडलिंग और अन्य की हिरासत की अवधि को बढ़ाना अवैध है।

इस फैसले से गडलिंग और अन्य कार्यकर्ताओं को जमानत मिलने का मार्ग प्रशस्त होता है। लेकिन न्यायाधीश ने महाराष्ट्र सरकार के अनुरोध को स्वीकार करते हुए अपने आदेश को लागू करने पर एक नवंबर तक के लिए रोक लगा दी। इस प्रकार राज्य को उच्चतम न्यायालय में अपील दायर करने का समय मिल गया।

इसे भी पढ़ें- भारत समेत 51 देशों ने आज के दिन की थी यूएन की स्थापना, दुनिया के लिए कहता है ये 5 अहम काम

पुणे पुलिस ने नागपुर विश्वविद्यालय के अंग्रेजी विभाग के प्रमुख शोमा सेन, दलित कार्यकर्ता सुधीर ढवाले, कार्यकर्ता महेश राउत और केरल निवासी रोना विल्सन के साथ गडलिंग को जून में गिरफ्तार किया था।

पुलिस ने गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) कानून के तहत उनके खिलाफ मामला दर्ज करते हुए आरोप लगाया था कि उनके माओवादियों के साथ संपर्क थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story